होम पर्यावरण Environment News: कॉमन कॉर्प मछली नैनीझील के लिए बनी खतरा, तलहटी की...

Environment News: कॉमन कॉर्प मछली नैनीझील के लिए बनी खतरा, तलहटी की मिट्टी खाने से बढ़ा भूस्‍खलन का खतरा

Environment News: प्रशासन से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि विश्‍व प्रसिद्ध नैनी झील का अस्तित्‍व बचाने के लिए अब खतरा बन चुकी कॉमन कॉर्प मछली को निकाला जाएगा। इनके स्‍थान पर झील के अंदर इको फ्रेंडली मछलियों को डाला जाएगा।

Environment News: सरोवर नगरी नैनीताल में भूस्‍खलन और इको सिस्‍टम बिगड़ने का खतरा बढ़ता जा रहा है। इसके लिए काफी हद तक जिम्‍मेदार मानवीय गतिविधियां हैं। दूसरी तरफ यहां की मशहूर नैनी झील में पाई जाने वाली कॉमन कॉर्प मछली भी है। जोकि बहुतायत में झील के अंदर मिलती है।
ये मछली भोजन की तलाश में झील की तलहटी और पहाड़ियों को लगातार कुरेद कर खोखला कर रही है। इसकी वजह से झील में गाद भरने के साथ भूस्‍खलन का खतरा भी बढ़ गया है। इसका खुलासा पंतनगर विश्‍वविद्यालय और शीतजल मत्‍स्‍य अनुसंधानकेंद्र के वैज्ञानिकों के अध्‍ययन में हुआ है।

Environment News: Common Corp Fish.

Environment News: प्रशासन ने उठाया कदम

Environment News: Famous Naini lake.

स्‍थानीय प्रशासन वर्ष 2019 से नैनी झील के डेल्‍टा बनने के बाद से झील के हालात सुधारने के लिए लगातार काम कर रहा है। झील के अंदर पाई जाने वाली कॉमन कॉर्प मछली झील से सटी पहाड़ियों को नुकसान पहुंचा रही है। यही वजह है कि झील में गाद बढ़ने के साथ ही प्राकृतिक स्‍तोत्र भी प्रभावित हो रहे हैं। प्रशासन से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि विश्‍व प्रसिद्ध नैनी झील का अस्तित्‍व बचाने के लिए अब खतरा बन चुकी कॉमन कॉर्प मछली को निकाला जाएगा। इनके स्‍थान पर झील के अंदर इको फ्रेंडली मछलियों को डाला जाएगा।

Environment News: कहां मिलतीं हैं कॉमन कॉर्प प्रजाति की मछलियां?

ये मछली मीठे पानी में अधिक पाई जाती है। करीब 12 से 24 इंच लंबाई वाली कॉमन कॉर्प का वजन 14 किलोग्राम तक होता है। इस मछली का भोजन नदी की तलहटी से मिटटी और जैविक पदार्थ खाना होता है।

Environment News: पिछले कुछ वर्ष से बढ़ रहा भूस्‍खलन

नैनीताल की मशहूर ठंडी सड़क और माल रोड पर पिछले 2 वर्षों के दौरान भूस्‍खलन तेजी से बढ़ा है। इसका कारण सड़क का झील से सटे होने के साथ ही मछलियों द्वारा लगातार मिटटी खाना भी है। यही वजह है कि सड़क दरकने के साथ धंस भी रही है। नैनी झील के अंदर 60 फीसदी कॉमन कॉर्प प्रजाति की मछली के अलावा गोल्‍डन महाशीर, महाशीर और मोगरा प्रजाति भी पाई जाती है।

संबंधित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर देखें Swadesh Conclave 2022 Live…

Swadesh Conclave 2022: दिल्ली के विज्ञान भवन में स्वदेश कॉन्क्लेव एंड अवार्ड्स का भव्य आयोजन किया गया।

Gujarat में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सीएम भूपेंद्र पटेल ने प्रदेशवासियों को दिया खास तोहफा, सीएम ने की कई बड़ी घोषणाएं

Gujarat में मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने विधानसभा चुनाव से पहले राज्य के सरकारी कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है।

Janmashtami 2022: जन्माष्टमी पर कान्हा जी के लिए करनी है शॉपिंग, दिल्ली के इन मार्केट्स से खरीदें सुंदर वस्त्र

Janmashtami 2022: पूरे देश में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाने के लिए तैयारी शुरू हो गई है।

एपीएन विशेष

00:00:18

Mumbai News: मुंबई में पुलिस ने एक वाहनचालक को बीच सड़क पर मारा थप्पड़

Mumbai News: महाराष्ट्र सरकार में मंत्री जितेंद्र आव्हाड जब कोल्हापुर के दौरे पर थे।
00:51:54

Rajya Sabha Election 2022: राज्यसभा की 57 सीटों पर नजर, एक सीट कई दावेदार; तेज हुआ सियासी घमासान

Rajya Sabha Election 2022: पंद्रह राज्यों में राज्यसभा की 57 सीटों पर 10 जून को होने वाले चुनाव में कांग्रेस को 11 सीटें मिल सकती हैं।
00:22:22

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर बिहार की सियासत में एक बार फिर मचा बवाल

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर सियासत एक बार फिर गर्मा रही है और इसका केंद्र है बिहार।
00:02:28

Barabanki: आधुनिक सुलभ शौचालय का होगा निर्माण, डिजाइन है खास

Barabanki: बाराबंकी नगर पालिका परिषद के चेयरमैन पति रंजीत बहादुर श्रीवास्तव नगर में अपनी खुद के डिजाइन का सुलभ शौचालय बनवाने जा रहे हैं।
afp footer code starts here