नकली है ATM मशीन से निकलने वाली आवाज, पैसे गिनने की नहीं होती… जानिए फिर किसकी होती है?

0
19

ATM से पैसे निकालने का काम काफी आसान हो गया है। पैसे निकालने के लिए अब बैंक के धक्के खाने की जरूरत नहीं है और ना ही किसी लाइन में लगने की जरूरत है। बहुत ही आसानी से किसी भी जगह से ATM की मदद से पैसे निकाल सकते हैं। अगर आपने एटीएम से पैसे निकाले होंगे तो आपको पता होगा कि जब भी आप एटीएम से पैसे निकलते हैं तो एटीएम मशीन से कुछ आवाज आती है। क्या आप जानते है ये आवाज किस चीज की होती है? चलिए जानते है एटीएम से जुड़ी ये रोचक बात…

आप जब भी ATM से पैसे निकालते हैं तो उसमे पैसे गिनने की आवाज़ आती है और इसके बाद ATM से पैसे निकल जाते हैं। कई लोगों का मानना है कि जो आवाज एटीएम से आती है वो आवाज पैसे गिनने की आती है। आज हम आपको बता देते हैं कि ये सच नहीं है। एटीएम के अंदर आने वाली ये आवाज़ एटीएम के अंदर मशीनों के काम करने से आती है। कुछ लोगों का मानना ये भी है कि एटीएम से आवाज किसी विशेष स्पीकर द्वारा आती है जबकि ऐसा नहीं है। एटीएम को डिजाइन ही इस हिसाब से किया गया है कि पैसे निकलते समय एटीएम कृत्रिम यानि कि बनावटी आवाज निकाल सके।

जानते हैं ATM का अविष्कार किसने किया?

एटीएम का अविष्कार स्कॉटिश नागरिक जॉन शेफर्ड बैरन ने किया था। साल 1965 में एक दिन बैरन जब पैसे निकालने के लिए बैंक पहुंचे थे तब किसी कारणवश बैरन को बैंक पहुँचने में एक मिनट की देरी हो गई और बैंक बंद हो गया। इस घटना के बाद जॉन शेफर्ड बैरन ने सोचा कि क्यों न कोई ऐसी मशीन बनाई जाए जिससे 24 घंटे पैसे निकाले जा सकें। लगभग 2 साल तक कड़ी मेहनत करके जॉन शेफर्ड ने एक ऐसी मशीन का अविष्कार किया जिसे आज हम सभी एटीएम के नाम से जानते हैं। पहला एटीएम 27 जून 1967 को लंदन के बार्कलेज बैंक में लगाया गया था और नगद निकालने वाले पहले व्यक्ति कॉमेडी अभिनेता रेग वर्नी थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here