खुशखबरी! नोएडा सेक्टर-142 से बॉटेनिकल गार्डन के बीच बनेगा नया मेट्रो रूट, जानिए… बिल्डर, बायर और इन्वेस्टर की कैसे होगी चांदी?

0
96

नोएडा। एक्‍सप्रेस वे से सटे नोएडा सेक्टर 142 और बॉटेनिकल गार्डन के बीच नया मेट्रो रूट विकास को नई रफ्तार देगा। रूट की डीपीआर तैयार होने के बाद यहां रहने वाले हजारों लोगों की उम्‍मीदें तो बढ़ ही गई हैं, साथ ही यहां के निर्माणाधीन प्रोजेक्‍ट में घर ले चुके लोग भी उत्‍साहित हैं। उधर, रियल एस्‍टेट कारोबारियों को भी उम्‍मीद है कि मेट्रो आने पर निवेश बढ़ेगा जिससे विकास को गति मिलेगी।

सेक्टर 142 और बॉटेनिकल गार्डन के बीच 11 किलोमीटर का नया एलिवेटेड मेट्रो ट्रैक बनने से नोएडा, ग्रेटर नोएडा की दिल्ली, गाजियाबाद व ट्रांस हिंडन के बीच कनेक्टिविटी और बेहतर हो जाएगी। इस मिसिंग लिंक पर मेट्रो की मांग काफी दिनों से हो रही है। यहां कई बड़े आवासीय प्रोजेक्‍ट्स का निर्माण भी हो रहा है। ऐसे में बिल्डर, बायर और इन्वेस्टर्स सभी के लिए मेट्रो का यह नया रुट संभावनाओं का नया द्वार खोलने जा रहा है। नोएडा-ग्रेनो एक्सप्रेस वे का वैकल्पिक मार्ग का भी प्रस्ताव प्राधिकरण कर रहा है, इससे निश्चित तौर पर रियल स्टेट कारोबार में बूम आएगा।

एक्वा लाइन मेट्रो की विस्तार परियोजना की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार कर ली गयी है। एक्वा लाइन का विस्तार बॉटेनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन से नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे के साथ-साथ सेक्टर-142 तक किया जाएगा। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) एक्वा लाइन के सेक्टर-142 से ब्लू और मजेंटा लाइन के इंटरचेंज बॉटेनिकल गार्डन स्टेशन के बीच बनने वाले नए रूट की डिटेल प्रॉजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) जल्द ही नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (एनएमआरसी) को सौपेगा।

Untitled Project 15
New Metro route in Noida

कितनी होगी लागत?

एनएमआरसी के एमडी के अनुसार दिसंबर में डीपीआर मिलने के बाद इसकी मंजूरी के लिए इसे नोएडा व ग्रेनो अथॉरिटी कि बोर्ड बैठक में भी रखा जाएगा। दोनों प्राधिकरण से पास होने के बाद डीपीआर को केंद्र व राज्य सरकार की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। एक्वा लाइन के सेक्टर-142 मेट्रो स्टेशन से बॉटेनिकल गार्डन तक एक नई मेट्रो लाइन बनाई जाएगी। जिसकी लागत 2254 करोड़ 35 लाख रुपये है, जिसका 20 प्रतिशत केंद्र और बाकि 80 प्रतिशत राज्य सरकार वहन करेगी,राज्य सरकार की एवज में आधा पैसा नोएडा और आधा ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण वहन करेंगे। बता दें कि एक स्टेशन को बनाने में करीब 20 करोड़ रुपये का खर्च आता है।

कुल 8 मेट्रो स्टेशन होंगे इस रूट में

  1. बॉटेनिकल गार्डन
  2. नोएडा सेक्टर 44
  3. नोएडा ऑफिस (सेक्टर 96)
  4. नोएडा सेक्टर 97
  5. नोएडा सेक्टर 105
  6. नोएडा सेक्टर 108
  7. नोएडा सेक्टर 93
  8. सेक्टर-91 पंचशील बालक इंटर कॉलेज, लास्ट स्टेशन नोएडा सेक्टर 142 (पहले से स्टेशन मौजूद)
Untitled Project 16
New Metro route in Noida

NCR में कनेक्टिविटी बेहतर होने से बढ़ेंगे प्रॉपर्टी के दाम

ग्रुप 108 के मैनेजिंग डायरेक्‍टर डॉ. अमिष भूटानी का कहना है कि मेट्रो के इस नए रूट के बनने से यहाँ प्रॉपर्टी की मांग में जबरदस्त उछाल आएगा। प्रॉपर्टी की जबरदस्त मांग के चलते रेजिडेंशियल और कमर्शियल प्रॉपर्टी की कीमतें तेजी से बढ़ेंगी। साथ ही निवेशकों को शानदार रिटर्न मिलेगा। भविष्‍य में इन जगहों पर नए-नए प्रोजेक्ट भी शुरू होंगे।

एसकेए ग्रुप के डायरेक्‍टर संजय शर्मा का कहना है कि दिल्ली-एनसीआर में बस कुछ ही समय में रियल स्टेट सेक्टर एक नये सफऱ पर चलेगा। मेट्रो के बनने वाले नये रुट से लोगों का सफर तो आसान होगा ही साथ ही प्रॉपर्टी की मांग में उछाल आएगा। एनसीआर में कनेक्टिविटी बेहतर होने से इन सभी मेट्रो स्टेशनों के आस पास प्रॉपर्टी की मांग बढ़ेगी और नये प्रोजेक्ट के लिए निवेशक हाथों हाथ मिलेंगे।

मिग्‍सन ग्रुप के मैनेजिंग डायरेक्‍टर यश मिग्‍लानी का कहना है कि एक्वा लाइन के विस्तार से नोएडा और ग्रेटर नोएडा बेहतर तरीके से आपस में जुड़ जायेंगे। इसके साथ ही इन दोनों शहरों और दिल्ली व हरियाणा के बीच भी आवागमन और बेहतर होगा। एनएमआरसी का एक्वा लाइन नेटवर्क सीधे तौर पर डीएमआरसी के ब्लू लाइन और मजेंटा लाइन नेटवर्क से जुड़ेगा। खास बात ये है कि इस नए मेट्रो रूट के बनने की घोषणा के बाद से नोएडा, ग्रेटर नोएडा और इससे जुड़े स्थानों के रियल एस्टेट सेक्‍टर को सीधा लाभ तो होगा ही, लोगों को भी सुविधा मिलेगी। क्षेत्र में अन्‍य सुविधाएं भी तेजी से विकसित होंगीं।

काउंटी ग्रुप के डायरेक्‍टर अमित मोदी का कहना है कि नोएडा, ग्रेटर नोएडा में जैसे-जैसे मेट्रो का दायरा बढ़ रहा है, वैसे-वैसे जमीनों और प्रॉपर्टी की मांग और दाम भी बढ़ रहे हैं। एक्वा लाइन के विस्तार से बॉटेनिकल गार्डन और ब्लू लाइन से सीधे जुड़ जाने से लोगों की राह आसान हो जाएगी। इससे क्षेत्र का विकास तेजी से होगा।

यह भी पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here