Ladli Behna Yojna MP : मध्य प्रदेश में लाडली बहनाओं ने लगाई सीएम शिवराज की नैया पार, क्या है लाडली बहना योजना?

0
53

Ladli Behna Yojna MP : मध्यप्रदेश के रुझानों की बात करें तो BJP बहुमत में नजर आ रही है। मध्य प्रदेश में 5 बजकर 30 मिनट तक, बीजेपी- 161, कांग्रेस- 63 , बीएसपी-0 सीटों पर रही। कई एक्जिट पोलस् ने भी बीजेपी के जीतने की संभावना जताई थी, हालांकि कुछ एग्जिट पोल में बीजेपी-कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर दिखाई थी। अब बीजेपी मध्यप्रदेश में सरकार बनाती हुई नजर आ रही है। ऐसे में शिवराज सरकार की इस जीत के लिए लाडली बहना योजना की बड़ी भूमिका बताई जा रही है।

बता दें, एमपी में महिलाएं बीजेपी के लिए बहुत बड़ा वोट बैंक है, बीजेपी लगातार महिलाओं के लिए नई योजनायें लाती रहती है और पुरानी योजनाओं में बदलाव भी करती रहती है। बीजेपी के घोषणा-पत्र में लाड़ली बहना योजना के तहत महिलाओं को आर्थिक मदद के साथ पक्का मकान देने का वादा किया गया है।

इसके अलावा लाड़ली बहनाओं को गैस सिलेंडर में भी सबसिडी देने का वादा किया है। बता दें, शिवराज सरकार ने लाड़ली बहनाओं को 450 रुपये में सिलेंडर देने का वादा किया है।

बता दें, चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 में मतदान का प्रतिशत 71.16% रहा था। जिसमें , महिला मतदाता 71.14% और पुरुष मतदाता 71.19% रहे। ऐसे में सीएम शिवराज की जीत के लिए “मुख्‍यमंत्री लाड़ली बहना योजना” को श्रेय दिया जा रहा है, जिसने महिला वोटर्स को बीजेपी के पाले में लाने में मदद की।

Ladli Behna Yojna MP : क्या है लाड़ली बहना योजना ?

मध्यप्रदेश महिला एवं बाल विकास विभाग की वेबसाईट के अनुसार, सहभागिता दर में गांव के क्षेत्रों में जहां पुरुषों की श्रम बाल में भागीदारी 57.7 फीसदी है, वहीं महिलाओं की श्रम बल में भागीदारी सिर्फ 23.3 फीसदी ही है। अगर शहरी क्षेत्र में तुलना करें तो सहभागिता दर में पुरूषों की श्रम बल में भागीदारी 55.9 फीसदी है, जबकि केवल 13.6 फीसदी महिलाओं की श्रम बल में भागीदारी देखी गई है। इन आंकड़ों से पता चलता है कि महिलाओं की श्रम में भागीदारी पुरूषों की तुलना में कम है जो उनकी इकोनॉमिक इंडिपेंडेंस यानी आर्थिक आजादी को अफेक्ट करता है। इसी बात को नजर में रखते हुए लाड़ली बहना योजना की शुरुआत की गई थी।

राज्य में इस योजना से महिलाओं को लाभ प्राप्त कराने की कोशिश की जाती है ताकि वे आर्थिक स्वालम्बी हो सकें और उन पर आश्रित बच्‍चों के स्वास्थ्य एवं पोषण ध्यान रखा जा सके। इस योजना को शिवराज सरकार ने 28 जनवरी 2023 मध्यप्रदेश में “मुख्‍यमंत्री लाड़ली बहना योजना” के नाम से लागू किया । इस योजना के तहत महिलाओं को हर महीने 1250 रूपये दिए जाते हैं, यानी सालाना 15000 रुपये महिलाओं के अकाउंट में डाले जाएंगे। हालांकि शुरुआत में इस योजना में 1000 रुपये देने की घोषणा की गई थी।

किन महिलाओं को मिलेगा ‘लाड़ली बहना योजना’ का लाभ?

  1. योजना में केवल राज्य की स्थायी निवासी महिलाएं ही अप्लाई कर सकती हैं।
  2. आवेदन करने वाली महिला की आयु अप्लाई करने के दौरान 21 वर्ष से कम और 60 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  3. किसी विद्यालय या कॉलेज में पढ़ रही महिला को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
  4. आवेदक और उसका परिवार टैक्सपेयर की श्रेणी में नहीं होने चाहिए और परिवार की सालाना इंकम 2.5 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  5. लाड़ली बहना योजना का लाभ सभी वर्ग की महिलाओं को बराबर दिया जाएगा। इसमें एससी, एसटी, ओबीसी और सामान्य वर्गों की महिलाओं को लाभ प्राप्त होगा।
  6. यदि आवेदन डालने वाली महिला के परिवार का कोई भी सदस्य भारत सरकार अथवा राज्‍य सरकार के शासकीय विभाग/उपक्रम/मण्‍डल/स्‍थानीय निकाय में नियमित/स्‍थाईकर्मी/संविदाकर्मी के रूप में नियोजित हो अथवा सेवानिवृत्ति उपरांत पेंशन प्राप्त कर रहा हो, तो वह अपात्र होगी, लेकिन मानसेवीकर्मी और आउटसोर्सिंग एजेंसी के माध्‍यम से नियोजित कर्मचारी अपात्र नहीं होंगी.
  7. योजना सिर्फ विवाहित/तलाकशुदा/विधवा/परित्यक्ता महिलाओं के लिए है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया लाड़ली बहना को गेमचेंजर

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी लाडली बहना योजना गेमचेंजर बताया है, उन्होंने कहा कि इसका पूरा क्रेडिट सीएम शिवराज सिंह चौहान को जाता है।

यह भी पढ़ें:

सत्ता के सेमीफाइनल में ब्रैंड मोदी पर जनता की मुहर, जानिए 2024 आम चुनाव पर क्या रहेगा असर

Madhya Pradesh Election Results 2023 : मध्य प्रदेश में रुझानों में बीजेपी को बहुमत, इन वजहों ने दिया सीएम शिवराज का साथ…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here