नहीं रहे RASNA के फाउंडर अरीज पिरोजशा खंबाटा, 85 साल की उम्र में कह दिया दुनिया को अलविदा

रसना अब दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्ट ड्रिंक कंसंट्रेट निर्माता है। यह अब दुनिया भर के 60 देशों में बेचा जाता है।

0
79
Areez Pirojshaw Khambatta: नहीं रहे RASNA के फाउंडर अरीज पिरोजशा खंबाटा, 85 साल की उम्र में कह दिया दुनिया को अलविदा
Areez Pirojshaw Khambatta: नहीं रहे RASNA के फाउंडर अरीज पिरोजशा खंबाटा, 85 साल की उम्र में कह दिया दुनिया को अलविदा

Areez Pirojshaw Khambatta: गर्मियों के मौसम में देशभर की प्यास बुझाने वाले रसना ग्रुप के फाउंडर चेयरमैन अरीज पिरोजशा खंबाटा अब इस दुनिया में नहीं रहे। महज 85 साल की उम्र में खंबाटा का निधन हो गया। 1970 में उन्होंने रसना ब्रांड के पेय पदार्थ बनाए थे, जिसका स्वाद आज भी लोगों की जुबान पर है। बता दें कि ग्रुप ने सोमवार को इसकी जानकारी दी कि 85 वर्षीय अरीज पिरोजशा खंबाटा का 19 नवंबर को निधन हो गया। ग्रुप ने बयान में कहा कि अरीज खंबाटा ने भारतीय उद्योग, व्यापार और समाज की सेवा के जरिए सामाजिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

Areez Pirojshaw Khambatta: नहीं रहे RASNA के फाउंडर अरीज पिरोजशा खंबाटा, 85 साल की उम्र में कह दिया दुनिया को अलविदा
Areez Pirojshaw Khambatta:

गौरतलब है कि 1979 में रसना की लॉचिंग के कुछ सालों बाद 1980 में रसना घर-घर में लोकप्रिय हो गया था। इसका विज्ञापन तक इतना सुपरहिट रहा था कि लोगों की जुबान पर विज्ञापन की टैगलाइन छप गई थी। जिसमें आई लव यू रसना टैगलाइन का इस्तेमाल किया गया था। बता दें कि वह अरीज खंबाटा बेनेवॉलेंट ट्रस्ट और रसना फाउंडेशन के चेयरमैन भी थे।

वह डब्ल्यूएपीआईजेड पूर्व चेयरमैन और अहमदाबाद पारसी पंचायत के पूर्व अध्यक्ष भी थे। खंबाटा को लोकप्रिय घरेलू पेय ब्रांड रसना के लिए जाना जाता है, जिसे देश में 18 लाख दुकानों पर बेचा जाता है।

Areez Pirojshaw Khambatta: नहीं रहे RASNA के फाउंडर अरीज पिरोजशा खंबाटा, 85 साल की उम्र में कह दिया दुनिया को अलविदा
Areez Pirojshaw Khambatta:

जानकारी के मुताबिक, अरीज पिरोजशा खंबाटा अपने पीछे अपनी पत्नी पर्सिस और बच्चे पिरुज, डेलना और रूजान, उनकी बहू बिनाशा और पोते अर्जीन, अरजाद, अवन, आरेज, फिरोजा और अर्नवाज को गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रसना अब दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्ट ड्रिंक कंसंट्रेट निर्माता है। यह अब दुनिया भर के 60 देशों में बेचा जाता है। उन्होंने 1970 के दशक में उच्च कीमत पर बेचे जाने वाले सॉफ्ट ड्रिंक उत्पादों के विकल्प के रूप में रसना के किफायती शीतल पेय पैक बनाए थे।

यह भी पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here