Kuno National Park में Cheetah ज्‍वाला के दो शावकों की मौत

Kuno National Park: मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले में बने कूनो नेशनल पार्क में चीतों को बसाने ओर उनके कुनबे को बढ़ाने के लिए इस प्रोजेक्ट को शुरू किया गया था।

0
69
Kuno National Park Cheetah news
Kuno National Park Cheetah news

Kuno National Park: मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में चीता ज्वाला के दो और शवकों की मौत हो गई।अभी दो दिन पहले ही उसके एक शावक की मौत हो गई थी। ज्वाला ने इस साल मार्च में 4 शावकों को जन्म दिया था।इनमें से 3 की मौत हो चुकी है।

कुनो नेशनल पार्क में अब तक 3 शावकों और 2 बड़े चीतों की मौत हो चुकी है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। वन विभाग की टीम मौत के कारणों का पता लगाने में जुटी है।

जानकारी के अनुसार ज्वाला और उसके शावकों की देखभाल वन्यप्राणी चिकित्सकों की टीम कर रही थी। मध्य प्रदेश के प्रधान मुख्य वन संरक्षक की ओर से जारी बयान में बताया गया कि तीनों शावकों की असामान्य स्थिति और गर्मी को देखते हुए रेस्क्यू कर डॉक्टरों की टीम अपनी निगरानी में रखे हुए थी, लेकिन तमाम प्रयास के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका।

बयान के मुताबिक एक बचे हुए शावक को पालपुर के चिकित्सालय में रखा गया।जहां उसका लगातार इलाज किया जा रहा है। इसमें नामीबिया और दक्षिण अफ्रीका के विशेषज्ञों की भी सलाह ली जा रही है।इन शावकों की मां ज्वाला की स्वस्थ हैं और उसकी भी निगरानी की जा रही है।

Kuno National Park News

Kuno National Park:प्रोजेक्‍ट चीता

Kuno 1 min

Kuno National Park: मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले में बने कूनो नेशनल पार्क में चीतों को बसाने ओर उनके कुनबे को बढ़ाने के लिए इस प्रोजेक्ट को शुरू किया गया था।नामीबिया से लाए गए चीतों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल अपने जन्मदिन पर पार्क के बाड़े में छोड़ा था, लेकिन कूनो नेशनल पार्क में चीतों का कुनबा बढ़ने की जगह घट रहा है। ऐसे में यहां से चीते शिफ्ट करके राजस्थान ले जाने की तैयारियां या यूं कहें की सुझाव पर चर्चा हो रही है।

कूनो नेशनल पार्क में लगातार चीतों की मौत हो रही है। मार्च में मादा चीता सासा की मौत फिर अप्रैल में उदय नाम के चीते की मौत और फिर मादा चीता दक्षा की मौत के बाद मादा चीता ज्वाला के तीन शावकों की अब तक मौत हो चुकी है।

इन मौतों से यह साफ नजर आ रहा है कि कूनो नेशनल पार्क में मॉनिटरिंग टीम और साथ मे लगे एक्सपर्ट सिर्फ खानापूर्ति में लगे हैं।इन मौतों से कूनो प्रशासन के अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं।

संबंधित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here