अर्बन नक्सल पर भड़के PM Modi, कहा- कई सालों तक सरदार सरोवर बांध का निर्माण कार्य रोककर रखा…

प्रधानमंत्री ने देश भर के पर्यावरण मंत्रियों से पर्यावरण संरक्षण में सर्वोत्तम प्रथाओं को सीखने का आग्रह किया। उन्होंने सर्कुलर इकोनॉमी को अपनाने के महत्व के बारे में भी बताया।

0
56
APN News Live Updates
APN News Live Updates

PM Modi ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि गुजरात में सरदार सरोवर बांध का निर्माण “अर्बन नक्सलियों” और “विकास विरोधी तत्वों” द्वारा वर्षों से रोक दिया गया था। पीएम मोदी ने कहा कि अर्बन नक्सलियों और राजनीतिक समर्थन वाले विकास विरोधी तत्वों ने एक अभियान चलाकर सरदार सरोवर बांध के निर्माण को रोक दिया था कि परियोजना पर्यावरण को नुकसान पहुंचाएगी। इस देरी के कारण भारी मात्रा में पैसा बर्बाद हो गया। अब, जब बांध का निर्माण कार्य पूरा हो गया है, तो आप अच्छी तरह से अंदाजा लगा सकते हैं कि उनके दावे कितने संदिग्ध थे।

पर्यावरण मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन को PM Modi ने किया संबोधित

पर्यावरण मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पीएम मोदी जुड़े थे। इस दौरान प्रधानमंत्री ने पर्यावरण संरक्षण के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, “ये अर्बन नक्सली अभी भी सक्रिय हैं।” “मैं आपसे यह सुनिश्चित करने का आग्रह करता हूं कि पर्यावरण के नाम पर व्यवसाय करने में आसानी या जीवन को आसान बनाने के उद्देश्य से परियोजनाएं अनावश्यक रूप से रुकी नहीं हैं। ऐसे लोगों की साजिश का मुकाबला करने के लिए हमारे पास एक संतुलित दृष्टिकोण होना चाहिए।”

download 2022 09 23T142952.977
अब देश का फोकस ग्रीन ग्रोथ पर है, ग्रीन जॉब्स पर है: PM Modi

ग्रीन ग्रोथ पर है देश का फोकस: PM Modi

पीएम मोदी ने आगे कहा कि भारत ने 2070 तक Net zero का टारगेट रखा है। अब देश का फोकस ग्रीन ग्रोथ पर है, ग्रीन जॉब्स पर है। इन सभी लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए, हर राज्य के पर्यावरण मंत्रालय की भूमिका बहुत बड़ी है। पीएम ने कहा कि आज का नया भारत, नई सोच, नई अप्रोच के साथ आगे बढ़ रहा है। आज भारत तेजी से विकसित होती इकोनॉमी भी है, और निरंतर अपनी इकोलॉजी को भी मजबूत कर रहा है।

प्रधानमंत्री ने देश भर के पर्यावरण मंत्रियों से पर्यावरण संरक्षण में सर्वोत्तम प्रथाओं को सीखने का आग्रह किया। उन्होंने सर्कुलर इकोनॉमी को अपनाने के महत्व के बारे में भी बताया। देश में लुप्तप्राय जानवरों की संख्या में वृद्धि के बारे में पीएम मोदी ने कहा, “शेर, बाघ, हाथी, एक सींग वाले गैंडे और तेंदुए की संख्या में वृद्धि हुई है। भारत में चीते का गर्मजोशी से स्वागत किया गया। बताते चले कि इस महीने की शुरुआत में अपने जन्मदिन पर, प्रधानमंत्री ने मध्य प्रदेश के कुनो नेशनल पार्क में नामीबिया से आए आठ चीतों को छोड़ा था।

यह भी पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here