Bengluru में बारिश करवाने के चक्‍कर में करवा दी दो नाबालिग लड़कों की शादी

Bengluru: नाबालिग लड़कों की शादी देखने के लिए गांव की पूरी भीड़ एकत्र हुई।जिन लड़कों की शादी कराई गई वह कक्षा पांचवी में पढ़ते हैं।

0
104
Bengluru News Two minor Boys tied knot
Bengluru News Two minor Boys tied knot

Bengluru: लोग बारिश के लिए कई प्रकार की मन्‍नतें उठाते हैं। कई मान्यताओं का सहारा भी लेते हैं। यहां तक बारिश कराने के लिए देवी-देवताओं की विशेष पूजा-अर्चना भी होती है।
इसके साथ-साथ टोटके का सहारा लेते है। ऐसा ही कुछ कर्नाटक में देखने को मिला। यहां के लोगों ने बारिश के देवता को खुश करने के लिए बेंगलुरु के आसपास के जिलों में अब अंधविश्वास का नया खेल शुरू कर दिया है। सूखे क्षेत्र में बारिश हो इस चक्कर में लोग यहां नाबालिग लड़कों की आपस में शादी कराने में जुट गए। ग्रामीणों ने यह दावा किया है कि शादी कराने के आधे घंटे बाद ही कर्नाटक में बारिश शुरू हो गई। शादी की घटना बीते गुरुवार और बुधवार को सामने आई है।

Bengluru news: two minor Tied knot .
wedding.

Bengluru: काफी भीड़ हुई इकट्ठा

Bengluru: नाबालिग लड़कों की शादी देखने के लिए गांव की पूरी भीड़ एकत्र हुई।जिन लड़कों की शादी कराई गई वह कक्षा पांचवी में पढ़ते हैं।सभी को दूल्हा-दुल्हन की पोशाक पहनाने से लेकर गांठ बांधने समेत सभी रस्में निभाई गईं। लोगों ने आशीर्वाद देने के लिए बारिश के देवताओं को आमंत्रित किया और अनुष्ठान में भाग लेकर आरती की। नाबालिग लड़कों को शादी के तोहफे में पैसे भी दिए गए।

Bengluru: अब सामान्य जीवन में लौटे नाबालिग बच्चे

Bengluru: शादी के बाद नाबालिग लड़के अपने सामान्य जीवन में लौट आए हैं। नाबालिग लड़कों की शादी की परंपरा बड़े पैमाने पर बेंगलुरु ग्रामीण, चिक्कबल्लापुर और कोलार जिलों में पाई जाती है। चिंतामणि तालुक के हिरेकाट्टीगेहल्ली और चिक्काबल्लापुर तालुक और जिले के मोगलाकुप्पे गांव के ग्रामीणों ने इन नाबालिग लड़कों की शादी कराई है।

Bengluru: तीन दिनों से हो रही बारिश

Bengluru: हैरानी की बात है कि नाबालिग बच्चों की शादी के कुछ ही घंटों के बाद कर्नाटक में तेज बारिश हुई। बेंगलुरु शहर सहित आसपास के जिलों में पिछले तीन दिनों से बारिश हो रही है। किसानों को चिंता थी कि मानसून कम आने के कारण पूरी फसल खराब हो जाएगी। अब उन्हें उम्मीद है कि उन्हें कम से कम मुख्य रागी की फसल मिल सकेगी।

संबंधित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here