MCD Elections 2022: सफाई, सड़क से लेकर श्‍मशान तक हर जगह अहम है नगर निगम की भूमिका, इन वजहों को जान जरूर करें मतदान

MCD Elections 2022: जानकारी के अनुसार निगम का वार्षिक बजट करीब 15, 200 करोड़ रुपये है।इसके तहत 1,50,000 कर्मचारी काम करते हैं।यही वजह है कि हर मतदाता को नगर निगम चुनाव में वोट जरूर डालना चाहिए।

0
55
MCD Elections 2022: top update news
MCD Elections 2022

MCD Elections 2022: आपको जन्‍म अथवा मृत्‍यु प्रमाण पत्र बनवाना हो या इलाके में साफ-सफाई का काम।इन कामों को करवाने के लिए आपको सीधे केंद्र या राज्‍य सरकार के पास जाने की जरूरत नहीं।इसके लिए आपको नगर निगम के पास जाना होगा।यही वजह है कि नगर निगम की अहमियत कई मायनों में बड़ी है। नगर निगम चुनावों की सरगर्मियां शुरू हो चुकी हैं।निगम के 250 वार्डों में आगामी 4 दिसंबर को मतदान होना है।

गौर किया जाए तो ये चुनाव कई मायनों में दिल्‍ली के लिए बेहद महत्‍वपूर्ण है।देश की राजधानी में करीब 2 करोड़ को पार कर चुकी है।ऐसे में नगर निगम का चुनाव कई मायनों में दिल्‍ली के लिए अहम है।क्‍योंकि केंद्र सरकार या निर्वाचित राज्‍य सरकार द्वारा लोगों का जीवन इतना प्रभावित नहीं होता, जितना कि नगर निगम प्रभावित करता है फिर चाहे जन्‍म, मृत्‍यु प्रमाण पत्र हो या विवाह का पंजीकरण, स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं हों या प्राथमिक शिक्षा यहां तक की कॉलोनी की मुख्‍य सड़कों से लेकर श्‍मशान घाटों तक प्रबंधन तक काम निगम के जिम्‍मे आता है।जानकारी के अनुसार निगम का वार्षिक बजट करीब 15, 200 करोड़ रुपये है।इसके तहत 1,50,000 कर्मचारी काम करते हैं।यही वजह है कि हर मतदाता को नगर निगम चुनाव में वोट जरूर डालना चाहिए।

MCD Elections 2022; top hindi news today.
Parking of MCD in Lajpat Nagar Delhi.

MCD Elections 2022: यहां जानिए नगर निगम की अहमियत

MCD Elections 2022: जन्‍म से लेकर श्‍मशान तक- नगर निगम का काम जन्‍म से लेकर श्‍मशान घाट तक होता है। ऐसे में इस चुनाव में वोट जरूर करें। मसलन स्‍थानीय बाजार, सामुदायिक सेवाएं, स्‍कूल, पार्कों का रखरखाव, सामाजिक लाभ से लेकर शवों का दाह संस्‍कार तक का काम निगम करता है।

स्‍कूल- एमसीडी से जन्‍म प्रमाण पत्र प्राप्‍त करने के बाद बच्‍चे को निगम के स्‍कूल में भर्ती करा सकते हैं।जहां शिक्षा और किताबें फ्री हैं। निगम 1535 स्‍कूल चलाता है।
स्‍वास्‍थ्‍य- निगम 9 बड़े अस्‍पताल चलाता है। इसके अलावा 15 प्रसूतिघर, 11 पॉलीक्लिनिक , 50 अस्‍तपाल और 98 मां और बच्‍चे के लिए देखभाल केंद्र हैं।
व्‍यापार- निगम दुकान और व्‍यापार के लिए लाइसेंस जारी करता है। इसके साथ ही छोटे पैमाने के कारखाने के लिए लाइसेंस भी जारी करता है।
सामुदायिक केंद्र- अक्‍सर विवाह और समारोह में शामिल होने के लिए हम सामुदायिक केंद्र का रूख करते हैं। ऐसे में दिल्‍ली में कई स्‍थानों पर एमसीडी के सामुदायिक केंद्र हैं, जिनकी बुकिंग ऑनलाइन की जा सकती है।
पार्किंग और सीवर- वाहनों के रखरखाव के लिए पार्किंग की व्‍यवस्‍था करता है।जलनिकासी के लिए सीवर की व्‍यवस्‍था भी नगर निगम ही करता है।
वरिष्‍ठ नगारिक सेवा केंद्र- शहर के बुजुर्गों के लिए 94 केंद्र नगर निगम संचालित करता है।जहां मनोरंजन के साधनों के साथ टीवी और समाचार पत्र भी मिलते हैं।
अंतिम संस्‍कार – दिल्‍ली में नगर निगम की ओर से अंतिम संस्‍कार के लिए करीब 58 घाट हैं।वर्ष 2020 में 1, 42, 789 मौत के मामले दर्ज किए गए।

MCD Elections 2022: ये काम भी करता है नगर निगम

MCD Southwest news.
MCD
  • निगम में 35 प्रमुख विभाग हैं और शहर के लोगों की अधिकांश समस्‍याओं का समाधान यहीं पर होता है
  • पार्क का रखरखाव
  • स्‍वच्‍छता, कचरा संग्रहण और निस्‍तारण
  • अतिक्रमण हटाना
  • रोगों की रोकथाम
  • बिल्डिंग परमिट और अवैध निर्माण रोकना
  • लावारिस पशुओं का प्रबंधन
  • करों और शुल्‍क का प्रत्‍यक्ष प्रबंधन
  • रेहड़ी-पटरी आदि का लाइसेंस
  • स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र और प्राथमिक विद्यालय
  • 60 फीट से कम चौड़ी सड़कों की देखरेख

संबंधित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here