होम देश कांग्रेस का दामन छोड़ बीजेपी में शामिल हुए थे Jagdeep Dhankhar, अब...

कांग्रेस का दामन छोड़ बीजेपी में शामिल हुए थे Jagdeep Dhankhar, अब चुने गए देश के उपराष्ट्रपति, जानें कैसा रहा है उनका राजनीतिक सफर?

जगदीप धनखड़ का जन्म राजस्थान के झुंझनू जिले के किठान गांव में हुआ था। जगदीप धनखड़ एक जाट परिवार से ताल्लुक रखते हैं। जगदीप धनखड़ ने राजस्थान के छोटे से जिले झुंझुनू से निकलकर देश के दूसरे सर्वोच्च पद तक के लिए सफर में काफी संघर्ष किया है।

Jagdeep Dhankhar: उपराष्ट्रपति चुनाव में पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने जीत हासिल की है और वो देश के 14वें उपराष्ट्रपति चुने गए हैं। बता दें कि आज देश में उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान हुआ था। चुनाव के नतीजे घोषित कर दिए गए हैं। इस बार उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए मैदान में एनडीए की ओर से जगदीप धनखड़ थे जिनके मुकाबले में विपक्ष ने उपराष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस नेता मारग्रेट अल्वा को मैदान में उतारा था। आइए आपको बताते हैं कि आखिर कौन हैं देश के 14वें उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ और कैसा रहा है उनका राजनीतिक सफर?

Jagdeep Dhankhar

कौन हैं जगदीप धनखड़?
जगदीप धनखड़ का जन्म राजस्थान के झुंझनू जिले के किठान गांव में हुआ था। जगदीप धनखड़ एक जाट परिवार से ताल्लुक रखते हैं। जगदीप धनखड़ ने राजस्थान के छोटे से जिले झुंझुनू से निकलकर देश के दूसरे सर्वोच्च पद तक के लिए सफर में काफी संघर्ष किया है। जगदीप धनखड़ की शुरुआती पढ़ाई गांव के ही माध्यमिक विद्यालय में हुई। पांचवी के बाद उनका एडमिशन गरधाना के सरकारी मिडिल स्कूल में करा दिया गया। जगदीप धनखड़ ने भौतिकी में स्नातक किया, इसके बाद राजस्थान के विश्वविद्यालय से कानून की पढ़ाई की ।

जगदीप धनखड़ के परिवार में 4 भाई बहन हैं। जगदीप धनखड़ ने ग्रेजुएशन के बाद देश की सबसे बड़ी सिविल सर्विसेज परीक्षा भी पास कर ली। हालांकि, उन्होंने वकालत का पेशा ही चुना। उन्होंने वकालत की शुरुआत राजस्थान हाईकोर्ट से की।

Jagdeep Dhankhar

Jagdeep Dhankhar का राजनीतिक सफर

जगदीप धनखड़ साल 1989 में जनता दल के टिकट पर झुंझुनू संसदीय क्षेत्र से जीतकर संसद पहुंचे। 1990 में उन्हें मंत्री भी बनाया गया। इसके बाद साल 1993 से 1998 तक अजमेर जिले की किशनगढ़ विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने। धनखड़ इसके बाद कांग्रेस में चले गए। मगर बाद में लोकसभा में मिली हार के बाद उन्होंने 2003 में भाजपा का हाथ थाम लिया। जिसके बाद 20 जुलाई 2019 को जगदीप धनखड़ को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भारत के संविधान के अनुच्छेद 155 के तहत पश्चिम बंगाल का राज्यपाल नियुक्त कर दिया था, और वे देश के 14वें उपराष्ट्रपति बन गए हैं।

संबंधित खबरें…

Vice President Election: शनिवार को उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए होगी वोटिंग, जगदीप धनखड़ संख्या के मामले में मार्गरेट अल्वा पर भारी

Mamata Banerjee ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ को ट्विटर पर किया ब्लॉक, कहा- चुनी हुई सरकार बंधुआ मजदूर बन गई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर देखें Swadesh Conclave 2022 Live…

Swadesh Conclave 2022: दिल्ली के विज्ञान भवन में स्वदेश कॉन्क्लेव एंड अवार्ड्स का भव्य आयोजन किया गया।

Gujarat में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सीएम भूपेंद्र पटेल ने प्रदेशवासियों को दिया खास तोहफा, सीएम ने की कई बड़ी घोषणाएं

Gujarat में मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने विधानसभा चुनाव से पहले राज्य के सरकारी कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है।

Janmashtami 2022: जन्माष्टमी पर कान्हा जी के लिए करनी है शॉपिंग, दिल्ली के इन मार्केट्स से खरीदें सुंदर वस्त्र

Janmashtami 2022: पूरे देश में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाने के लिए तैयारी शुरू हो गई है।

एपीएन विशेष

00:00:18

Mumbai News: मुंबई में पुलिस ने एक वाहनचालक को बीच सड़क पर मारा थप्पड़

Mumbai News: महाराष्ट्र सरकार में मंत्री जितेंद्र आव्हाड जब कोल्हापुर के दौरे पर थे।
00:51:54

Rajya Sabha Election 2022: राज्यसभा की 57 सीटों पर नजर, एक सीट कई दावेदार; तेज हुआ सियासी घमासान

Rajya Sabha Election 2022: पंद्रह राज्यों में राज्यसभा की 57 सीटों पर 10 जून को होने वाले चुनाव में कांग्रेस को 11 सीटें मिल सकती हैं।
00:22:22

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर बिहार की सियासत में एक बार फिर मचा बवाल

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर सियासत एक बार फिर गर्मा रही है और इसका केंद्र है बिहार।
00:02:28

Barabanki: आधुनिक सुलभ शौचालय का होगा निर्माण, डिजाइन है खास

Barabanki: बाराबंकी नगर पालिका परिषद के चेयरमैन पति रंजीत बहादुर श्रीवास्तव नगर में अपनी खुद के डिजाइन का सुलभ शौचालय बनवाने जा रहे हैं।
afp footer code starts here