महिलाओं को क्यों नहीं मिलता बराबरी का दर्जा, ‘आधी आबादी’ को टिकट देने में पीछे क्यों है राष्ट्रीय पार्टियां?

चुनाव आयोग द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, अगले महीने 1 और 5 दिसंबर को दो चरणों में होने वाले गुजरात चुनाव में कुल 1,621 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं।

0
73
Gujarat Election 2022: kharge on PM Modi
Gujarat Election 2022

Gujarat Election 2022: गुजरात विधानसभा चुनाव होने में अब एक सप्ताह ही शेष है। ऐसी रिपोर्टें सामने आई हैं कि चुनाव लड़ने वाली महिला उम्मीदवारों की संख्या बहुत उत्साहजनक नहीं है। आकड़ों के मुताबिक, 182 सीटों के लिए 1,621 उम्मीदवारों में से केवल 139 ही चुनाव मैदान में हैं। वहीं राज्य में लगभग 50 प्रतिशत महिला मतदाता है। दरअसल, सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी और विपक्षी कांग्रेस ने केवल कुछ मुट्ठी भर महिलाओं को टिकट देने की अपनी परंपरा को इस चुनाव में भी जारी रखा है। हालांकि, 2017 के चुनाव की तुलना में महिलाओं की उम्मीदवारी अधिक है।

2017 में भी पार्टियों ने ‘आधी आबादी’ को हाशिए पर रखा!

भाजपा ने 2017 में 12 के मुकाबले 18 महिला उम्मीदवारों को टिकट दिया था, जबकि कांग्रेस ने 14 महिलाओं को मैदान में उतारा था। हालांकि पिछले विधानसभा चुनाव में यह आंकड़ा 10 था। दोनों दलों ने इस बार दलित और आदिवासी समुदायों की अधिक संख्या में महिला उम्मीदवारों को भी शामिल किया है।

वडोदरा में सयाजीगंज सीट से कांग्रेस उम्मीदवार अमी रावत ने कहा कि महिलाओं का प्रतिनिधित्व तब बढ़ेगा जब संसद में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने वाला विधेयक पारित हो जाएगा, जबकि भाजपा की राज्य महिला शाखा की प्रमुख दीपिकाबेन सर्वदा ने कहा कि उनकी पार्टी पहले से ही महत्वपूर्ण पद देकर ऐसा कर रही है।

10 प्रतिशत से भी कम महिला उम्मीदवार लड़ रहीं चुनाव

चुनाव आयोग द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, अगले महीने 1 और 5 दिसंबर को दो चरणों में होने वाले गुजरात चुनाव में कुल 1,621 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें से 139 महिला उम्मीदवार हैं, जिनमें से 56 निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ रही हैं।

2017 में कुल 1,828 प्रतियोगियों में से 126 महिला उम्मीदवार थीं। उस साल गुजरात ने 13 महिला उम्मीदवारों को विधानसभा भेजा था। इसमें भाजपा के नौ और कांग्रेस के चार शामिल हैं। चुनाव आयोग के आंकड़ों से पता चलता है कि कम से कम 104 महिला प्रतियोगियों की जमानत राशि जब्त कर ली गई है।

Gujarat Election: गुजरात में चुनाव से पहले BJP का एक्शन, 12 बागी नेताओं को किया निलंबित

अन्य पार्टियों के आंकड़े

अगर अन्य पार्टियों की बात करे तो, आम आदमी पार्टी (AAP) ने सभी 182 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। जिनमें से छह महिला उम्मीदवारों को टिकट दिया है। 13 सीटों पर चुनाव लड़ रही ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) ने दो महिलाओं को टिकट दिया है, जिसमें एक मुस्लिम और दूसरी दलित समुदाय की है। इसने वेजलपुर से ज़ैनबीबी शेख और दानिलिमदा से कौशिकबेन परमार को मैदान में उतारा है। दोनों सीटें अहमदाबाद शहर की हैं। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने आगामी चुनावों के लिए 13 महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। वह 101 सीटों पर लड़ रही है। भाजपा ने नौ मौजूदा महिला विधायकों में से पांच को हटा दिया है।

यह भी पढ़ें: