Gyanvapi Case: ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर अहम फैसला आज, छावनी में तब्दील हुआ कोर्ट परिसर, वाराणासी में धारा 144 लागू

0
79
Gyanvapi Case: ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर अहम फैसला आज, छावनी में तब्दील हुआ कोर्ट परिसर, वाराणासी में धारा 144 लागू
Gyanvapi Case: ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर अहम फैसला आज, छावनी में तब्दील हुआ कोर्ट परिसर, वाराणासी में धारा 144 लागू

Gyanvapi Case:  वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर आज वाराणसी जिला कोर्ट ने अपना अहम फैसला सुनाने वाली है। आज दोपहर 2 बजे से जस्टिस प्रकाश पाडिया की सिंगल बेंच इस मामले पर फैसला सुनाएगी। दरअसल, 24 अगस्त को ही इस मामले के लिए फैसले को सुरक्षित कर लिया गया था और एलान किया गया था कि 12 सितंबर को फैसला सुनाया जाएगा। कोर्ट मुख्य रूप से नागरिक प्रक्रिया संहिता सीपीसी के आदेश 7 नियम 11 के तहत ये तय करेगी कि यह केस सुनने योग्य है या नहीं। इसके साथ ही एएसआई से सर्वेक्षण कराए जाने समेत कुछ दूसरे बिंदुओं पर भी हाईकोर्ट को आज अपना फैसला सुनाना है।

Fcbh7ioaUAIUzmL?format=jpg&name=large
Gyanvapi Case

Gyanvapi Case: सुरक्षा व्यवस्था हुए सख्त

यह काफी अहम फैसला होने वाला है, इसके लिए यूपी में सुरक्षा व्यवस्था काफी सख्त कर दिए गए हैं। कोर्ट परिसर के आसपास लगभग 250 पुलिस कर्मी तैनात किए गए हैं। आपको बता दें, बम निरोधक दस्ते भी तैनात किए गए हैं साथ ही डॉग स्क्वायड को भी निगरानी के लिए काम पर लगा दिया गया है।

Fcbh7ioaUAAq3DF?format=jpg&name=large

Gyanvapi Case: कोर्ट के पास किसी भी बाहरी व्यक्ति को खड़े होने की अनुमति नहीं दी गई है, साथ ही कोर्ट में प्रवेश कर रहे सभी लोगों की चेकिंग भी काफी सचेत होकर की जा रही है। पूरे वाराणासी में धारा 144 लागू कर दी गई है। जारी की गई एडवाइजरी के अनुसार पूरे शहर को सेक्टर्स में बांट दिया गया है ताकि कानून व्यवस्था बनाए रखना आसान हो सकें। PRV और QRT की टीमें सेंसिटिव पॉइंट्स पर लगाई जाएंगी।

o5WreFjE?format=jpg&name=small

Gyanvapi Case: संवेदनशील इलाकों में फ्लैग मार्च और फुट मार्च निकालने का आदेश जारी किया गया है। इलाहाबाद जिले के सीमावर्ती इलाकों के हेटल, धर्मशाला और गेस्ट हाउस में सख्ती से चेकिंग की जा रही है। इंटर डिस्ट्रिक्ट बॉर्डर पर आने वाली सभी गाड़ियों को चेकिंग के बाद ही अंदर आने दिया जा रहा है। किसी तरह के दंगे न फैलें व अफवाहों से लोगों को बचाने के लिए सोशल मीडिया की भी मॉनिटरिंग की जा रही है।

संबंधित खबरें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here