केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, बिहार BJP अध्यक्ष समेत कई नेताओं की Y श्रेणी सुरक्षा वापस

वाई श्रेणी सुरक्षा के तहत केंद्रीय बलों के दो से तीन कमांडो तैनात किए जाते हैं। ये कमांडो केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल यानी सीआरपीएफ की वीआईपी सिक्योरिटी यूनिट के होते हैं।

0
49
Bihar BJP: बिहार BJP अध्यक्ष समेत कई नेताओं की Y श्रेणी सुरक्षा वापस, केंद्र सरकार का बड़ा फैसला
Bihar BJP: बिहार BJP अध्यक्ष समेत कई नेताओं की Y श्रेणी सुरक्षा वापस, केंद्र सरकार का बड़ा फैसला

Bihar BJP: बिहार के बीजेपी नेताओं को दी गयी वाई श्रेणी की सुरक्षा केंद्र सरकार ने वापस लेने का फैसला किया है। केंद्र सरकार ने बिहार बीजेपी के अध्यक्ष डॉक्टर संजय जायसवाल समेत 10 नेताओं को दी जा रही वाई श्रेणी की सुरक्षा वापस ले ली है। दरअसल, केंद्र सरकार ने ये फैसला इसलिए लिया क्योंकि अग्निपथ योजना का विरोध बिहार में काफी हुआ था, जिसके कारण ये नेता प्रदर्शनकारियों के निशाने पर थे। इसे देखते हुए केंद्र ने बिहार बीजेपी के नेताओं को ये सुविधा मुहैया कराई थी। जिसे अब हटा लिया गया है।

Bihar BJP: इन नेताओं की Y श्रेणी की सुरक्षा वापस लेने का फैसला

Bihar BJP: बिहार BJP अध्यक्ष समेत कई नेताओं की Y श्रेणी सुरक्षा वापस, केंद्र सरकार का बड़ा फैसला
Renu Devi

जानकारी के मुताबिक, केंद्र की बीजेपी सरकार ने बिहार बीजेपी के 10 नेताओं की वाई श्रेणी की सुरक्षा वापस कर ली है। इस सूची में प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर संजय जायसवाल, पूर्व उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी, दरभंगा के सांसद गोपालजी ठाकुर, किशनगंज के एमएलसी दिलीप जायसवाल, अररिया के सांसद प्रदीप सिंह, कटिहार के एमएलसी अशोक अग्रवाल, दीघा विधायक संजीव कुमार चौरसिया, विस्फी विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल और दरभंगा के विधायक संजय सरावगी की वाई श्रेणी सुरक्षा वापस की गयी है।

Bihar BJP: क्यों वापस ली गयी सुरक्षा?

Bihar BJP: बिहार BJP अध्यक्ष समेत कई नेताओं की Y श्रेणी सुरक्षा वापस, केंद्र सरकार का बड़ा फैसला
Bihar BJP

बता दें कि केंद्र की बीजेपी सरकार, सेना में भर्ती के लिए अग्निपथ योजना लेकर आई थी। जिसका पूरे देश में काफी विरोध किया गया। इस विरोध का केंद्र बना बिहार, जहां उग्र प्रदर्शन देखने को मिला था। आंदोलन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने कई जगह बीजेपी के कार्यालय और पार्टी के नेताओं के घर को निशाना बनाया था। इसके अलावा कुछ नेताओं को धमकियां भी मिली थी। बिहार बीजेपी के नेताओं को मिली धमकियों और खुफिया रिपोर्ट्स को देखते हुए गृह मंत्रालय ने इन 10 नेताओं को वाई श्रेणी की सुरक्षा देने का फैसला किया था।

आपको बता दें कि वाई श्रेणी सुरक्षा के तहत केंद्रीय बलों के दो से तीन कमांडो तैनात किए जाते हैं। ये कमांडो केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल यानी सीआरपीएफ की वीआईपी सिक्योरिटी यूनिट के होते हैं। गृह मंत्रालय ने 18 जून 2022 को ही इन 10 नेताओं को वाई श्रेणी की सुरक्षा देने का ऐलान किया था। गृह मंत्रालय की ओर से उसी दिन सीआरपीएफ को भी वीआईपी सिक्योरिटी यूनिट के कमांडो की तैनाती को लेकर निर्देश दिए गए थे। अब सरकार ने इन 10 नेताओं की वीआईपी सुरक्षा वापस ले ली है।

यह भी पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here