Book Review: मानवीय जिंदगी के आते-जाते पहलुओं का बखान है ‘टका सेर आजादी’, जन्‍म से लेकर मृत्‍यु के बीच के पड़ावों का है जिक्र

0
143
Book Review: Taka Ser Azadi
Book Review

Book Review: हर इंसान की जिंदगी से कहानी जुड़ी होती है। जैसे-जैसे वह बड़ा होता जाता है, उसका दायरा बढ़ता जाता है, नए लोग उसके जीवन में आते हैं और कहानी और भी नया मोड़ ले लेती है।ऐसे में बचपन में कहानी सुनने से लेकर कहानी बनाने तक अनेक दिलचस्‍प पड़ाव भी आते हैं। इंसान की पूरी जिंदगी की कहानियों से भरी है किताब ‘टका सेर आजादी’। लेखक योगेंद्र शर्मा के इस कहानी संग्रह ‘टका सेर आजादी’ में कई दिलचस्‍प कहानियों के जरिए जिंदगी को समझाने की कोशिश की गई है।

Hindi Book of Taka Ser Azadi by Yogesh
Book Review: Taka Ser Azadi

Book Review: 12 सुंदर कहानियों का बेजोड़ संग्रह

लेखक ने बड़े ही बेजोड़ तरीके से 12 सुंदर कहानियों के संग्रह टका सेर आजादी को लोगों के सामने रखा है। इन कहानियों में सभी विषय हमारी और आपकी जिंदगी से ही लिए गए हैं। चाहे वो बहुचर्चित निर्भया कांड की त्रासदी का दुख हो या आक्रोश से उपजी कहानी अहिल्‍या की वापसी। इसके साथ ही गुलामी की जंजीरों को तोड़ने के लिए युवाओं का आक्रोश हो। सभी कहानियों को लेखक ने बड़े ही मनोयोग से संवारने का प्रयास यहां किया है।

Book Review: अन्‍याय के खिलाफ अपने समय की आवाज हैं

किताब टका सेर आजादी में लेखक ने दो पीढि़यों के समय की तुलना बौनों के देश जैसी कहानी के रूप में की है। कुल मिलाकर ये कहानियां अन्‍याय के खिलाफ अपने समय की आवाज हैं।सभी कहानियों के विषय आसपास की कहानियों से ही लिए गए हैं।

संबंधित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here