भारत देवी देवताओं का देश कहा जाता है इसलिए यहां पर त्यौहारों की रौनक बनी रहती है। 17 अक्टूबर से नवरात्री की धूम शुरू हो जाएगी। वैसे तो आम तौर पर सभी को लगता है कि दुर्गा पूजा सिर्फ बंगाल में ही मशहूर है पर ऐसा नहीं है देश के इन राज्यों में भी दुर्गा पूजा को जोरों-शोरों पर मनाया जाता है।

बंगाल में दुर्गा पूजा

बंगाल का सबसे बड़ा त्यौहार दुर्गा पूजा है। पूरे 9 दिन बंगाल की गलियां रौशनी से जगमगाती रहती हैं। देश विदेश से लोग यहां पर पूजा का लुत्फ उठाने के लिए आते हैं। यहां पर भव्य तरह से पंडाल सजाए जाते हैं। 9 दिन बंगाली परिवारों के लिए अलग ही खुशी होती है।

बनारस

यहां पर दुर्गा कुडं मंदिर काफी प्रचलित है। नवरात्री के समय भक्त नंगे पैर यहां पर दर्शन करने आते हैं। यहां पर कई जगहों पर रामलीला का आयोजन भी किया जाता है। इसमें सीता हरण से लेकर रावण वध तक की कहानियों को दिखाया जाता है।

बस्तर

बस्तर के जगलपुर में दशहरा का मेला और यहां की जनजातियों का पूजा करने का ढंग बहुत फेमस है। जनजातियां दंतेश्वरी देवी के मंदिर मे पूजा के लिए जमा होती हैं। यह मंदिर पर्यटकों की पसंदीदा जगह है।

असम

हरियाली से भरे राज्य असम में दुर्गा पूजा लोगों का काफी ध्यान आकर्षित करती है। मीडिया जगत से लोग कई तरह की कहानियां दुर्गा पूजा पर यहीं तलाशने जाते हैं।

मैसूर

मैसूर का नाम आते ही यहां का महल ध्यान में आता है जो दुर्गा पूजा के समय रौशनी में डूबा रहता है। महल को एक लाख बल्ब से सजाया जाता है। यहां पर नृत्य और दसवें दिन शोभा यात्रा भी निकाली जाती है।

दिल्ली

देश की राजधानी दिल्ली में भी मां दुर्गा के दिवाने रहते हैं। यहां पर रामलीला का आजोयन किया जाता है। पूरे 9 दिन भक्तों का मनोरंजन होते रहता है।

मुंबई

मुबंई में गणेश चतुर्थी के साथ दुर्गा पूजा भी काफी प्रसिध्द है। यहां साता क्रूज में भव्य दुर्गा पंडाल का आयोजन किया जाताा है। बॉलीवुड की की हस्तियां दर्शन के लिए आती हैं। पंडाल को मुखर्जी परिवार द्वारा आयोजित किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here