मालदीव: भारत विरोधी राष्ट्रपति की खैर नहीं! शुरू हुई महाभियोग की कार्यवाही

0
24

मालदीव में मुख्य विपक्षी दल अपने चीन समर्थक राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही शुरू करने के लिए तैयार है। मुख्य विपक्षी दल मालदीवियन डेमोक्रेटिक पार्टी के पास संसद में बहुमत है और महाभियोग दाखिल करने के लिए हस्ताक्षर एकत्र करना शुरू हो चुका है।

हाल में एक चीनी जासूसी जहाज को सरकार द्वारा देश की राजधानी माले में डॉक करने की अनुमति दिए जाने के बाद विपक्षी दलों ने राष्ट्रपति मुइज्जू पर उनके चीन समर्थक रुख के लिए हमला बोला है। कल देश की संसद में जमकर हंगामा हुआ, जिसके बाद विपक्ष ने महाभियोग की कार्यवाही शुरू करने का फैसला किया।

पिछले हफ्तों में, राष्ट्रपति मुइज्जू, जो स्पष्ट रूप से भारत विरोधी रुख के साथ सत्ता में आए थे, को आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

कुछ समय पहले मुइज्जू ने कहा था कि भारत मार्च के मध्य तक देश में तैनात अपने सैनिकों को वापस ले ले। मालदीव सरकार का कहना है कि लगभग 80 भारतीय सैनिकों उनके देश की सुरक्षा के लिए खतरा हैं।

मालदीवियन डेमोक्रेटिक पार्टी और डेमोक्रेट्स ने सरकार पर भारत विरोधी होने का आरोप लगाया और एक संयुक्त प्रेस बयान जारी कर कहा कि मौजूदा नीतिगत बदलाव देश के दीर्घकालिक विकास के लिए “बेहद हानिकारक”है।

बयान में कहा गया है, “किसी भी विकास भागीदार और विशेष रूप से देश के सबसे पुराने सहयोगी को अलग करना देश के दीर्घकालिक विकास के लिए बेहद हानिकारक होगा। हिंद महासागर में स्थिरता और सुरक्षा मालदीव की स्थिरता और सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण है”।

एमडीपी और डेमोक्रेट दोनों ने सरकारों के बने रहने आवश्यकता पर जोर दिया है। जिससे कि मालदीव के लोगों के लाभ के लिए सभी विकास भागीदारों के साथ काम करना जारी रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here