अमेजन में Layoff के खिलाफ हरकत में मोदी सरकार, कर्मचारियों की छंटनी से पहले लेबर मिनिस्ट्री ने थमाया नोटिस

NITES के अध्यक्ष हरप्रीत सिंह सलूजा ने कहा, "हाल ही में हमें Amazon के कर्मचारियों से शिकायतें मिली हैं कि उन्हें स्वेच्छा से कंपनी छोड़ने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

0
47
Amazon Summoned by Labour Ministry
Amazon Summoned by Labour Ministry

Amazon Summoned by Labour Ministry: केंद्रीय श्रम मंत्रालय ने कर्मचारियों के छटनी से पहले अमेजन इंडिया को नोटिस थमाया है। दरअसल, ई-कॉमर्स वेबसाइट अमेजन अपने यहां से बड़ी संख्या में कर्मचारियों को निकालने की प्लानिंग कर रहा है। न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार, अमेजन इस सप्ताह कॉर्पोरेट और IT क्षेत्र में काम करने वाले लगभग 10,000 लोगों की छंटनी करने की योजना बना रहा है। ये छंटनी दुनिया भर में काम कर रहे कर्मचारियों में से की जाएगी।

NITES की शिकायत के बाद थमाया नोटिस

बता दें कि मंत्रालय ने नेसेंट इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एम्प्लॉइज सीनेट (NITES) की शिकायत पर अमेजन को तलब किया है। NITES ने 19 नवंबर को एक पत्र में आरोप लगाया कि अमेज़न इंडिया पर फायरिंग अनैतिक और अवैध है, और हस्तक्षेप का अनुरोध किया। अमेज़न इंडिया ने प्रकाशन के समय तक VCCircle के प्रश्नों का उत्तर नहीं दिया।

Amazon
Amazon

NITES के अध्यक्ष हरप्रीत सिंह सलूजा ने कहा, “हाल ही में हमें Amazon के कर्मचारियों से शिकायतें मिली हैं कि उन्हें स्वेच्छा से कंपनी छोड़ने के लिए मजबूर किया जा रहा है।अमेज़न देश में लगभग 100,000 कर्मचारियों को रोजगार देता है।

उन्होंने कहा, “एक कर्मचारी जिसने कम से कम एक वर्ष की निरंतर सेवा की है, उसे तब तक नहीं हटाया जा सकता जब तक कि तीन महीने पहले नोटिस और उपयुक्त सरकार से पूर्व अनुमति न दी जाए।” बता दें कि पिछले हफ्ते सामने आए आंतरिक दस्तावेजों से पता चला है कि अमेजन इंडिया मानव संसाधन और कर्मचारी सेवाओं सहित विभिन्न डिवीजनों में अपने कुछ कर्मचारियों को नौकरी छोड़ने के लिए कह रहा है।

यह भी पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here