ऑन कैमरा ACB अधिकारी को Amanatullah Khan के समर्थकों ने दिया धक्का, छापेमारी करने गई थी टीम

आम आदमी पार्टी ने कहा है कि विधायक के खिलाफ मामला 'मनगढ़ंत' है और दावा किया कि तलाशी में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला। “आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को एक निराधार और फर्जी मामले में गिरफ्तार किया गया है।"

0
31
ऑन कैमरा ACB अधिकारी को Amanatullah Khan के समर्थकों ने दिया धक्का
ऑन कैमरा ACB अधिकारी को Amanatullah Khan के समर्थकों ने दिया धक्का

Amanatullah Khan: आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को दो दिन पहले दिल्ली वक्फ बोर्ड में भर्ती से जुड़े भ्रष्टाचार के एक मामले में उनके आवास और दक्षिणी दिल्ली में चार अन्य स्थानों पर छापेमारी के बाद गिरफ्तार किया गया था। अब ACB ने एक वीडियो जारी किया जो AAP नेता के लिए और परेशानी का सबब बन सकता है। इस वीडियो में भ्रष्टाचार विरोधी शाखा की वर्दी पहने एक अधिकारी को कुछ लोग धक्का देते हुए दिखाई दे रहे हैं। इतना ही नहीं अधिकारी के साथ मारपीट भी की जाती है।

बताया जा रहा है कि जो लोग एसीबी अधिकारी को धक्का दे रहे हैं वो अमानतुल्लाह खान के समर्थक थे। वीडियो में एसीबी अधिकारी को सड़क पर कम से कम 10-15 लोगों द्वारा बार-बार घेरते, चिल्लाते और धकेलते हुए देखा जा सकता है। आम आदमी पार्टी ने अभी तक वीडियो और एसीबी द्वारा लगाए गए आरोपों का जवाब नहीं दिया है।

4 दिन के पुलिस रिमांड पर Amanatullah Khan

बता दें कि अमानतुल्लाह खान वर्तमान में 4 दिन के पुलिस रिमांड पर है। वक्फ बोर्ड से जुड़े मामले में उनके सहयोगियों के घरों से छापे के दौरान दो पिस्तौल, कारतूस और 24 लाख रुपये से अधिक नकद भी बरामद किया गया था। जिसके बाद आम आदमी पार्टी के विधायक को गिरफ्तार कर लिया गया था। दरअसल, दिल्ली वक्फ बोर्ड में कथित अनियमितता को लेकर भष्टाचार निवारण अधिनियम 2020 के तहत दर्ज मामले के संबध में आम आदमी पार्टी के विधायक को पूछताछ के लिए बुलाए जाने के बाद गिरफ्तार किया गया था।

download 2022 09 18T143203.308
Amanatullah Khan

अमानतुल्लाह खान पर लगे हैं कई आरोप

एसीबी ने एक बयान में कहा, “अमानतुल्लाह खान ने दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में काम करते हुए, “नियमों और सरकारी दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वाले 32 व्यक्तियों को अवैध रूप से भर्ती किया। दिल्ली वक्फ बोर्ड के तत्कालीन सीईओ ने बयान दिया और इस तरह की अवैध भर्ती के खिलाफ एक ज्ञापन जारी किया। इसके अलावा, खान ने कथित तौर पर दिल्ली वक्फ बोर्ड की कई संपत्तियों को अवैध रूप से किराए पर लिया और दिल्ली सरकार से सहायता अनुदान सहित अपने धन का दुरुपयोग किया।

आम आदमी पार्टी ने कहा है कि विधायक के खिलाफ मामला ‘मनगढ़ंत’ है और दावा किया कि तलाशी में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला। “आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को एक निराधार और फर्जी मामले में गिरफ्तार किया गया है।” छापेमारी के दौरान उनके आवास या कार्यालय से कुछ भी नहीं मिला। विधायक को झूठे मामले में फंसाने और आम आदमी पार्टी को बदनाम करने की यह नई साजिश है।

यह भी पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here