देश के 14वें Attorney General बने Mukul Rohatgi, K.K Venugopal की लेंगे जगह

Mukul Rohatgi: अटॉर्नी जनरल केंद्र सरकार के लिए देश के सबसे शीर्ष कानून अधिकारी और मुख्य कानूनी सलाहकार होते हैं। जो सुप्रीम कोर्ट में महत्वपूर्ण मामलों में केंद्र सरकार का प्रतिनिधित्व करते हैं। अटॉर्नी जनरल सरकार का प्रथम विधि अधिकारी होता है।

0
51
Mukul Rohatgi: New Attorney General of India
Mukul Rohatgi

Mukul Rohatgi: मुकुल रोहतगी देश के 14वें अटॉर्नी जनरल के रूप में नियुक्त किए गए हैं। वह 1 अक्तूबर से अपना दूसरे कार्यकाल की शुरुआत करेंगे। देश के मौजूदा अटॉर्नी जनरल केके.वेणुगोपाल का कार्यकाल 30 सितंबर को पूरा होने जा रहा है।रोहतगी वर्ष 2014 से लेकर 2017 के बीच भी देश के अटॉर्नी जनरल थे। 91 वर्षीय केके. वेणुगोपाल अब इस पद पर बने रहने के इच्छुक नहीं हैं।

वर्ष 2020 में 3 वर्ष का कार्यकाल पूरा करने के बाद वेणुगोपाल ने सरकार से आग्रह किया था,कि उनकी उम्र को देखते हुए उन्हें जिम्मेदारी से मुक्त किया जाए।सरकार ने वेणुगोपाल से अगले कार्यकाल के लिए काम करने के लिए कहा, तो वह 2 साल और पद पर बने रहने के लिए राजी हो गए थे। सूत्रों के अनुसार मुकुल रोहतगी अपना दूसरा कार्यकाल 1 अक्टूबर से शुरू करेंगे। वह भारत के अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल के रूप में भी काम कर चुके हैं।जानकारी के अनुसार वर्ष 2017 में रोहतगी के पद छोड़ने के बाद भी सरकार ने उनसे जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म करने समेत संवेदनशील मुद्दों पर सलाह ली थी।

Mukul Rohatgi top hindi news today.
Mukul Rohatgi

Mukul Rohatgi: जानिए क्‍या होता है अटॉर्नी जनरल का पद?

दरअसल अटॉर्नी जनरल केंद्र सरकार के लिए देश के सबसे शीर्ष कानून अधिकारी और मुख्य कानूनी सलाहकार होते हैं। जो सुप्रीम कोर्ट में महत्वपूर्ण मामलों में केंद्र सरकार का प्रतिनिधित्व करते हैं। अटॉर्नी जनरल सरकार का प्रथम विधि अधिकारी होता है।

Mukul Rohatgi: रोहतगी लड़ चुके हैं कई High Profile Case

Mukul Rohatgi: 14 th Attorney General of India
Supreme Court

मालूम हो कि मुकुल रोहतगी वर्ष 2014 में उस समय अटॉर्नी जनरल नियुक्त किए गए थे, जब भारी जनादेश के साथ भाजपा सत्ता में आई थी। मुकुल रोहतगी की गिनती भारत के सबसे हाई प्रोफाइल वकीलों में की जाती है।अब तक उन्होंने कई अहम केस भी लड़े हैं, जिनमें गुजरात दंगों का मामला शामिल है। गुजरात दंगा मामले में रोहतगी गुजरात सरकार के वकील थे।उन्होंने राष्ट्रीय न्यायिक नियुक्ति आयोग से संबंधित केस भी लड़ा। हाल में मुकुल रोहतगी ने शाहरुख खाने के बेटे आर्यन खान के वकीलों का नेतृत्व भी किया था। मालूम हो कि आर्यन खान को क्रूज ड्रग्स मामले में गिरफ्तार किया गया था।

संबंधित खबरें

https://youtu.be/nBGcjGs13Ag

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here