होम अध्यात्म Rakhi 2022: भद्रा योग में क्‍यों वर्जित है राखी बांधना, कौन है...

Rakhi 2022: भद्रा योग में क्‍यों वर्जित है राखी बांधना, कौन है भद्रा ? जानिए यहां

Rakhi 2022: रक्षाबंधन आने में कुछ ही दिन शेष रह गए हैं। हर रक्षाबंधन एक शब्‍द आप जरूर सुनते हैं कि भद्रा योग में राखी का त्‍योहार नहीं मनाएं। शास्‍त्रों में भी इसे वर्जित माना गया है।अब सवाल ये उठता है कि आखिर ये भद्रा कौन है जिसके होने से रक्षाबंधन के पर्व में थोड़ी रूकावट आती है। दरअसल कुछ लोग इस बात को लेकर उलझन में हैं कि राखी का पर्व 11 अगस्त को मनाएं या 12 अगस्‍त को। ऐसे में क्‍या वाकई भद्रा योग के आने पर इस दौरान राखी बंधवाने का समय बेहद कम रहेगा।आइए जानते हैं भद्रा योग, राखी का मुहूर्त और बहुत कुछ।

Rakhi 2022.

Rakhi 2022: भद्रा योग की वजह से बना असमंजस

इसे भद्रा काल बोलें या योग इसके कारण ही रक्षाबंधन की तारीखों को लेकर असमंजस बना हुआ है। इस साल सावन पूर्णिमा 11 अगस्त को 10 बजकर 38 मिनट से शुरू होगी। 12 अगस्त को सुबह 7 बजकर 6 मिनट पर समाप्त हो जाएगी। ध्‍यान योग्‍य है कि पूर्णिमा के साथ ही भद्रा तिथि भी लग रही है।

जानकारी के अनुसार 11 अगस्त को रात 8 बजकर 53 मिनट तक भद्रा तिथि रहेगी। हालांकि, विशेष परिस्थिति में भद्रा पुच्छ के समय राखी का पर्व मनाया जा सकता है। यानी की 11 अगस्त की शाम 5 बजकर 18 मिनट से लेकर 6 बजकर 20 मिनट कर आप अपने भाई को राखी बांध सकती है। जबकि 12 तारीख को सूर्योदय के समय पूर्णिमा तिथि रहेगी इसलिए उस पूरे दिन पूर्णिमा तिथि का वास माना जाएगा। इसलिए इस दिन भाई बहन पूरे दिन रक्षाबंधन का त्योहार मना सकते हैं।

Rakhi 2022: जानिए कौन है भद्रा और क्‍या असर है इसका?

Rakhi 2022
Rakhi 2022

हिंदू धर्म में किसी भी मांगलिक कार्य में भद्रा योग का विशेषतौर पर ध्‍यान रखा जाता है। क्‍योंकि इस काल में कोई भी शुभ काम करना वर्जित होता है।पुराणों के अनुसार भद्रा भगवान सूर्य की पुत्री और शनिदेव की बहन हैं। शनि की तरह ही इनका स्‍वभाव भी कड़क होता है। इनके स्‍वभाव को नियंत्रित करने के लिए ही भगवान ब्रहमा ने उन्‍हें कालगणना या पंचांग के एक प्रमुख अंग विष्टिकरण में स्‍थान दिया।

भद्रा की स्थिति में कुछ शुभ कार्य बेशक वर्जित हों, लेकिन कुछ कार्य मसलन अदालती कार्यवाही, राजनीतिक चुनाव आदि अच्‍छा फल देने वाले बताए गए हैं।
भद्रा का शाब्दिक अर्थ है कल्‍याण करने वाली। ज्‍योतिष शास्‍त्रों के अनुसार भद्रा तीन लोकों में विचरण करती है। जब वह मृत्‍युलोक में होती है तब सभी शुभ कार्यों में बाधक या उनका नाश करने वाली मानी गई है। यही वजह है कि जब चंद्रमा कर्क, सिंह, कुंभ और मीन राशि में होता है तो भद्रा योग बनता है, यानी तब भद्रा पृथ्‍वी में रहती हैं। इस दौरान सभी शुभ कार्य मना होते हैं।

संबंधित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Delhi Liquor Scam को लेकर CBI ने दर्ज की FIR, मनीष सिसोदिया समेत 15 के नाम शामिल

Delhi Liquor Scam: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कथित आबकारी घोटाले पर अपनी प्राथमिकी में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सहित 15 लोगों को आरोपी बनाया है।

Kailash Vijayvargiya ने दिया विवादित बयान, बोले- “नीतीश कुमार ऐसे पाला बदलते हैं जैसे लड़कियां बॉयफ्रेंड बदलती हैं”

Kailash Vijayvargiya: बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय 25 दिनों बाद अमेरिका से इंदौर लौटे। भारत आते ही वो विवादों में घिर गए।

गोवा देश का पहला ‘हर घर जल’ प्रमाणित राज्य घोषित, जानिए कहां तक पहुंचा हर घर में नल से पानी देने वाला जल जीवन...

गोवा और दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव के सभी गांवों के लोगों ने अपने गांव को 'हर घर जल' के रूप में घोषित किया है.

Crypto Prices Update: बिटकॉइन में आई इतनी भारी गिरावट, जानें गिरकर कहां आ गई कीमत

Crypto Prices Update: बिटकॉइन शुक्रवार को तीन सप्ताह से अधिक समय में अपने सबसे निचले स्तर पर गिर गया है। शुरुआती यूरोपीय व्यापार में अचानक क्रिप्टो बिकवाली के बीच इसकी कीमत 22,000 डॉलर से नीचे गिर गया।

एपीएन विशेष

00:00:18

Mumbai News: मुंबई में पुलिस ने एक वाहनचालक को बीच सड़क पर मारा थप्पड़

Mumbai News: महाराष्ट्र सरकार में मंत्री जितेंद्र आव्हाड जब कोल्हापुर के दौरे पर थे।
00:51:54

Rajya Sabha Election 2022: राज्यसभा की 57 सीटों पर नजर, एक सीट कई दावेदार; तेज हुआ सियासी घमासान

Rajya Sabha Election 2022: पंद्रह राज्यों में राज्यसभा की 57 सीटों पर 10 जून को होने वाले चुनाव में कांग्रेस को 11 सीटें मिल सकती हैं।
00:22:22

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर बिहार की सियासत में एक बार फिर मचा बवाल

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर सियासत एक बार फिर गर्मा रही है और इसका केंद्र है बिहार।
00:02:28

Barabanki: आधुनिक सुलभ शौचालय का होगा निर्माण, डिजाइन है खास

Barabanki: बाराबंकी नगर पालिका परिषद के चेयरमैन पति रंजीत बहादुर श्रीवास्तव नगर में अपनी खुद के डिजाइन का सुलभ शौचालय बनवाने जा रहे हैं।
afp footer code starts here