होम स्वास्थ्य WHO ने Mu Variant को Variant of interest घोषित किया

WHO ने Mu Variant को Variant of interest घोषित किया

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) ने Corona Virus के एक नए वेरिएंट को Variant of interest घोषित किया है, जिसे Mu Variant नाम दिया है। यह पहली बार जनवरी 2021 में कोलंबिया में पाया गया था और अब तक लगभग 39 देशों में पाया गया है।

Mu Variant से कुछ हद तक COVID टीकों के लेकर बचा जा सकता है। अच्छी बात ये है कि यह दुनिया के अधिकांश हिस्सों में डेल्टा की तरह नहीं फैला। कुछ म्यूटेशन हानिकारक होंगे, लेकिन कुछ कम होंगे। ‘Variant of interest’ के चार प्रकार हैं: एटा, आयोटा, कप्पा और लैम्ब्डा। यदि इस बात का सबूत मिला कि म्यू अधिक गंभीर है तो इसे ‘Variants of Concern’ में अपग्रेड किया जा सकता है। फिलहाल इनमें चार शामिल हैं, alpha, beta, gamma और delta ।

क्या यह टीकों से बच सकता है?

अधिकांश COVID टीके वायरस के ‘Spike Protein’ पर काम करते हैं। टीके हमारे शरीर को वायरस के एक हिस्से, आमतौर पर स्पाइक प्रोटीन के संपर्क में लाते हैं, इसलिए हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली वायरस का सामना करने पर उससे लड़ना सीख सकती है। यदि स्पाइक प्रोटीन में महत्वपूर्ण परिवर्तन होते हैं, तो इससे टीकों की प्रभावशीलता कम हो सकती है। WHO ने कहा कि एमयू वैरिएंट को लेकर अभी हमें अधिक शोध की आवश्यकता है कि यह मनुष्यों में कैसे व्यवहार करता है और इस पर शोध जारी है। अच्छी खबर यह है टीके वर्तमान में वायरस के सभी प्रकार से रक्षा करते हैं।

WHO Report Mu Vairant
Source: World Health Organization

Vaccines हमेशा के लिए रक्षा नहीं कर सकते

इस बात की बहुत अधिक संभावना है कि नया वैरिएंट आ सकता है जो टीकों द्वारा दी जाने वाली सुरक्षा से काफी हद तक बच सकता है। हम इसे ‘एस्केप वेरिएंट’ कहेंगे। यह कहना मुश्किल है कि यह कब होगी, लेकिन वायरस के बड़े पैमाने पर फैलने से नए वैरिएंट के आने की संभावना बढ़ जाती है। हालांकि, अगर ऐसा होता है तो भी प्रमुख COVID वैक्सीन निर्माता इसके लिए तैयार हैं। कुछ पहले से ही डेल्टा जैसे नए वेरिएंट के लिए टीके विकसित कर रहे हैं। यदि वर्तमान में लगने वाले टीकों से कोई वैरिएंट बच जाता है तो कुछ वैक्सीन निर्माता मौजूदा टीकों को नए वैरिएंट से मेल खाते टीकों में बदल सकते हैं, ऐसा लगभग 6-8 सप्ताह के भीतर संभव हो सकता है।

वैज्ञानिकों को लगता है कि म्यू अल्फा की तुलना में कम से कम 50% अधिक संक्रामक है। इससे मुकाबला करने के लिए जरूरी है कि अधिक से अधिक लोगों को टीका लगाया जाए।

देश में इतने हैं केस

Corona Active Case मामले में दुनिया में भारत 7वें स्थान पर है, ब्राजील, तर्की, रूस, ईरान, यूके और अमेरिका आगे हैं। शुक्रवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 45,352 नए कोरोना केस आए, एक दिन पहले 47,092 मामले आए थे। वहीं पिछले 24 घंटे 366 कोरोना संक्रमितों की जान चली गई। Health Ministry ने बताया है कि 2 सितंबर तक देशभर में 67 करोड़, 9 लाख, 59 हजार कोरोना वैक्सीन की डोज ले चुके हैं।

ये भी पढें :

American society of Nephrology ने कहा- कोरोना मरीजों के गुर्दें 35% तक हो जाते हैं खराब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Gyanvapi Mosque Row: प्रोफेसर Ratan lal को मिली जमानत, ‘शिवलिंग’ को लेकर…

Gyanvapi Mosque Row: दिल्ली की एक अदालत ने शनिवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर रतन लाल को जमानत दे दी। उन्हें ज्ञानवापी मस्जिद में मिले 'शिवलिंग'पर अभद्र टिप्पणी करने के बाद शुक्रवार देर रात गिरफ्तार किया गया था।

Navneet Rana: अवैध निर्माण मामले में BMC ने राणा दंपती को भेजा दूसरी बार नोटिस, जवाब नहीं देने पर होगी कार्रवाई

Navneet Rana: हनुमान चालीसा विवाद को लेकर चर्चा में आए राणा दंपती की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही है। अभी हाल ही में नवनीत राणा हनुमान चालीसा विवाद के कारण जेल में रह कर भी आईं।
00:22:30

Monkeypox Virus: जानिए कितना खतरनाक है मंकीपॉक्स? ऐसे करें अपना बचाव

Monkeypox Virus: मंकीपॉक्स (Monkeypox virus) एक जानवरों से मनुष्यों में फैलने वाला वायरस है।

PM Modi ने की Deaflympics एथलीटों से मुलाकात, कहा- चैंपियन के साथ बातचीत को कभी नहीं भूलेंगे

PM Modi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार, 21 मई को अपने आवास पर भारत के सफल डेफलिम्पिक्स दल की मेजबानी की। इस दौरान पीएम ने एथलीटों को डेफलिम्पिक्स के 24वें संस्करण में उनके शानदार प्रदर्शन के लिए बधाई दी।

एपीएन विशेष

00:22:30

Monkeypox Virus: जानिए कितना खतरनाक है मंकीपॉक्स? ऐसे करें अपना बचाव

Monkeypox Virus: मंकीपॉक्स (Monkeypox virus) एक जानवरों से मनुष्यों में फैलने वाला वायरस है।
00:02:22

Hyderabad Rape Case: फर्जी था बलात्कार के आरोपियों का एनकाउंटर, आयोग की जांच रिपोर्ट में खुलासा

Hyderabad Rape Case: 2019 के चर्चित हैदराबाद एनकाउंटर पर पुलिस की कलई खुल गई है।
00:23:18

Wheat Export In India: सरकार का ‘गेहूं निर्यात पर प्रतिबंध’ फैसला, सही या गलत ?

Wheat Export In India: भारत ने गेहूं के निर्यात पर रोक लगा दी है।
00:04:33

Gyanvapi Masjid Survey: क्यों Gyanvapi मस्जिद मुद्दे पर खुलकर बोलने से बच रही राजनीतिक पार्टियां

Gyanvapi Masjid Survey: अयोध्या के राममंदिर आंदोलन के वक्त से आज के दौर की राजनीति बिल्कुल अलग है।
afp footer code starts here