भाजपा के Nabanna Chalo march में आगजनी और लाठीचार्ज, पुलिस ने BJP कार्यकर्ताओं पर दागे आंसू गैस के गोले, जानें क्या है पूरा मामला…?

सुवेन्दु अधिकारी बोले, 'बंगाल की जनता ममता जी के साथ नहीं है इसलिए वह बंगाल में उत्तर कोरिया की तरह तानाशाही कर रही हैं'।

0
52
पुलिस वाहन को फूंका
पुलिस वाहन को फूंका

Nabanna Chalo march: बंगाल में राज्य सरकार के खिलाफ मंगलवार को बीजेपी ने ‘नबान्न चलो’ अभियान निकाला। हालांकि, इस अभियान के लिए पुलिस की ओर से अनुमति नहीं दी गई थी। इससे टीएमसी (TMC) और बीजेपी में एक टकराव भी दिखा। अभियान के दौरान राजधानी कोलकाता (Kolkata News) में विधानसभा में विपक्ष के नेता सुवेन्दु अधिकारी (Suvendu Adhikari) को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। हावड़ा के संतरागाछी इलाके में भाजपा कार्यकर्ताओं (BJP) को रोकने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया और आंसू गैस के गोले दागे। वहीं, इसके अलावा कोलकाता में इस दौरान पुलिस वाहन को आग के हवाले कर दिया गया। पुलिस ने लाठीचार्ज भी की है।

Nabanna Chalo march: सुवेन्दु अधिकारी
Nabanna Chalo march: सुवेन्दु अधिकारी

Nabanna Chalo march: सुवेन्दु बोले, उत्तर कोरिया की तरह तानाशाही कर रही हैं ममता

सुवेन्दु अधिकारी ने नबान्न चलो मार्च को लेकर कहा कि ‘ये शांतिपूर्ण आंदोलन है। ये भ्रष्टाचार और बेरोजगारी का मुद्दा है। बंगाल की जनता ममता जी के साथ नहीं है इसलिए वह बंगाल में उत्तर कोरिया की तरह तानाशाही कर रही हैं’। कोलकाता में सुवेन्दु अधिकारी के साथ पुलिस ने बीजेपी एमपी लॉकेट चटर्जी और राहुल सिन्हा सहित कई भाजपा नेताओं को हिरासत में ले लिया। इस अभियान में राज्य के कई जिलों से लोग कोलकाता पहुंच रहे थे, जिन्हें कोलकाता से बाहर ही पुलिस ने रोक दिया।

पुलिस ने किया वाटर कैनन का इस्तेमाल

हावड़ा के संतरागाछी इलाके में भाजपा कार्यकर्ताओं को रोकने और तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया और आंसू गैस के गोले दागे।अभियान में शामिल होने के लिए बड़ी संख्‍या में कई बीजेपी कार्यकर्ता नावों से भी कोलकाता पहुंचे। वे पार्टी के झंडे और बैनर-पोस्टर के साथ कोलकाता पहुंचे थे। दूसरी तरफ बसों से अभियान में शामिल होने जा रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने उत्तर 24 परगना में ही रोक दिया। इस दौरान पुलिस को भारी विरोध का सामना भी करना पड़ा। कोलकाता में ‘नबान्न चलो’ अभियान के मद्देनजर पुलिस की बैरिकेडिंग की वजह से हावड़ा ब्रिज पर ट्रैफिक जाम लग गया। इससे लोगों को काफी परेशानी हुई।

क्या है Nabanna Chalo march?

जानकारी के अनुसार बंगाल में अगले वर्ष पंचायत चुनाव होने वाले हैं। साथ ही बीजेपी विधानसभा की तैयारी में जुटी हुई है। इसके लिए बीजेपी अभी से अपनी ताकत को बढ़ाने में जुटी है। भाजपा का कहना है कि नबान्न अभियान में झंडा और डंडा साथ लेकर जाएंगे। वहीं, पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष एस मजूमदार (S Majumdar) ने कहा कि जनता चोरों से प्रदर्शन करने की परमिशन क्यों लेगी?

उन्होंने कहा, अधिक भुगतान नहीं करने वाले जिलाध्यक्ष का तबादला कर दिया जाता है। पार्टी के कई नेता रिश्वत लेने के आरोप में पकड़े जा चुके हैं। इसके बावजूद भी पार्टी सुधरने का नाम नहीं ले रही है। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि हमने पिछली बार जब नबान्न मार्च निकाला था, उस समय भी हमें रोकने के लिए धारा 144 लगाई गई थी। उनका कहना है कि बंगाल को बचाने की लड़ाई में हम एक बार फिर से मार्च पर निकले हैं।

यह भी पढ़ेंः

देश के 14वें Attorney General बने Mukul Rohatgi, K.K Venugopal की लेंगे जगह

World Dairy Summit | जानिए कैसे 1951 में 1.7 करोड़ टन दूध उत्पादन करने वाला भारत बना दुनिया का सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here