होम देश Farmers Protest: किसानों की ये 5 मांगें मान ले सरकार तो खत्म...

Farmers Protest: किसानों की ये 5 मांगें मान ले सरकार तो खत्म हो जाएगा किसान आंदोलन

Farmers Protest: किसानों ने आज 29 नवंबर को प्रस्तावित संसद तक ट्रैक्टर मार्च को वापस ले लिया लेकिन किसान अभी भी अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे पहले गुरुपर्व के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि कानूनों की वापसी का एलान किया था। इस बाबत कैबिनेट ने फैसले को मंजूरी दे दी है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भी आज बताया कि सोमवार से शुरू हो रहे शीतकालीन सत्र के पहले दिन केंद्र सरकार कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए विधेयक सदन में पेश करेगी। कृषि मंत्री ने आज यह भी बताया कि किसानों की ओर से की जाने वाली मांग कि पराली जलाने को अपराध न माना जाए भी केंद्र सरकार द्वारा स्वीकार कर ली गयी है।

आइए किसानों की उन बाकी बची मांगों के बारे में आपको बताते हैं जिन्हें अगर केंद्र सरकार मान ले तो किसान आंदोलन पूरी तरह खत्म हो जाएगा-

  1. खेती की संपूर्ण लागत पर आधारित (C2+50%) न्यूनतम समर्थन मूल्य को सभी कृषि उपज के ऊपर, सभी किसानों का कानूनी हक बना दिया जाए।
  2. सरकार द्वारा प्रस्तावित “विद्युत अधिनियम संशोधन विधेयक, 2020/2021” का ड्राफ्ट वापस लिया जाए।
  3. दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़, यूपी और अनेक राज्यों में हजारों किसानों को इस आंदोलन के दौरान सैकड़ों मुकदमों में फंसाया गया है। इन केसों को वापस लिया जाए।
  4. लखीमपुर खीरी हत्याकांड के सूत्रधार और सेक्शन 120B के अभियुक्त अजय मिश्रा टेनी को बर्खास्त और गिरफ्तार किया जाए।
  5. इस आंदोलन के दौरान अब तक लगभग 700 किसान शहीद हो चुके हैं। उनके परिवारों के लिए मुआवजे और पुनर्वास की व्यवस्था की जाए। शहीद किसानों की स्मृति में एक शहीद स्मारक बनाने के लिए जमीन।

पीएम मोदी ने मांगी थी माफी

मालूम हो कि पीएम मोदी ने किसानों से कहा था कि इस माह के अंत मे होने वाले संसद सत्र में कानून वापसी की संवैधानिक प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा था कि शायद हम किसानों को समझा नहीं पाए, इसलिए हमने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला किया है। बिल वापसी की घोषणा करते हुए पीएम मोदी ने देश की जनता से माफी भी मांगी थी।

यह भी पढ़ें:Farm Law: कृषि कानून को रद्द करने के लिए जानें क्या है आगे की संवैधानिक प्रक्रिया?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Infosys के CEO Salil Parekh को मिलती है इतनी सैलरी, जानकर दंग रह जाएंगे आप

Salil Parekh: इंफोसिस लिमिटेड के CEO सलिल पारेख की सैलरी को 88 फीसदी बढ़ाकर 79.75 करोड़ प्रति वर्ष कर दिया गया है। कंपनी ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में इसका खुलासा किया है।

APN News Live Updates: “सेक्स वर्कर भी सुरक्षा और सम्मान के हकदार” Supreme Court ने पुलिस को दिए अहम निर्देश, पढ़ें 26 मई की...

Supreme Court ने गुरुवार को एक अहम आदेश में पुलिस से कहा कि सेक्स वर्कर के खिलाफ न तो उन्हें दखल देना चाहिए...

IPL 2022: Rajat Patidar ने एलिमिनेटर में शतक लगाकर बदली आरसीबी की किस्मत, पिता ने कहा- खेल के प्रति हमेशा से रहा है समर्पित...

आईपीएल मेगा ऑक्शन में रजत पर कोई टीम ने बोली नहीं लगाई थी। लवनीत सिसोदिया के चोटिल होने के बाद आरसीबी ने रजत पाटीदार को 20 लाख के बेस प्राइस में टीम में शामिल किया।

Mumbai News: मामा को भांजी से हुआ प्यार तो की सारी हदें पार, अब सलाखों के पीछे

Mumbai News: मुम्बई के कांदिवली से मामा भांजी के रिश्ते को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है।

एपीएन विशेष

00:03:47
00:01:26

UP News: नाबालिग का पहले कराया धर्म परिवर्तन, फिर पढ़वाया निकाह, घरवालों ने बजरंगदल के साथ मिलकर किया हंगामा

UP News: कानपुर के काकादेव थाना क्षेत्र में एक परिवार ने 16 वर्षीय बेटे का बहला फुसलाकर धर्मांतरण कराने का आरोप लगाया है।

West Bengal: पश्चिम बंगाल के बैरकपुर से BJP सांसद अर्जुन सिंह ने थामा TMC का दामन

West Bengal: पश्चिम बंगाल के बैरकपुर से बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह ने फिर से टीएमसी का दामन थाम लिया है। तीन साल बाद अर्जुन सिंह ने घर वापसी की है।
00:22:22

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर बिहार की सियासत में एक बार फिर मचा बवाल

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर सियासत एक बार फिर गर्मा रही है और इसका केंद्र है बिहार।
afp footer code starts here