होम लीगल न्यूज Justice UU Lalit हो सकते हैं देश के अगले चीफ जस्टिस, CJI...

Justice UU Lalit हो सकते हैं देश के अगले चीफ जस्टिस, CJI रमणा ने की सिफारिश

जस्टिस यूयू ललित इस समय सुप्रीम कोर्ट के दूसरे वरिष्ठतम जज हैं। जस्टिस ललित महाराष्ट्र के जाने-माने वकील रह चुके हैं। उन्होंने जून 1983 में वकालत की शुरुआत की थी।

Justice UU Lalit: भारत के चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) एन वी रमणा 26 अगस्त को सेवानिवृत्त होने वाले हैं। उससे पहले उन्होंने आज अपने नए उत्तराधिकारी के नाम की सिफारिश की है। भारत के चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) के चयन के लिए मौजूदा CJI एन वी रमणा ने जस्टिस उदय उमेश ललित के मान की सिफारिश की है। CJI रमणा ने अपना सिफारिश पत्र कानून और न्याय मंत्री को सौंपा है।

अगर जस्टिस यूयू ललित के नाम की सिफारिश पर मुहर लग जाती है तो देश को अपना नया CJI मिल जाएगा। यूयू ललित अगर CJI बनते हैं तो वो देश के 49वें CJI होंगे। बता दें कि जस्टिस एन वी रमणा 26 अगस्त को सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं।

Justice UU Lalit हो सकते हैं देश के अगले चीफ जस्टिस, CJI रमणा ने की सिफारिश
Justice UU Lalit

गौरतलब है कि किरन रिजिजू ने CJI एन वी रमणा को पत्र लिखकर उनसे अपने उत्तराधिकारी के नाम की सिफारिश करने का अनुरोध किया था।

परंपरा के मुताबिक अपने सेवानिवृत्ति से करीब 1 महीने पहले चीफ जस्टिस बंद लिफाफे में अपने उत्तराधिकारी के नाम की सिफारिश कानून और न्याय मंत्रालय के जरिए राष्ट्रपति को सौंपते हैं। आमतौर पर इस पत्र में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश का नाम ही होता है।

पारंपारिक रूप से सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश अपनी वरिष्ठता के आधार पर CJI के रूप में कार्यभार संभालते हैं। चीफ जस्टिस के तौर पर वैसे तो कोई कार्यकाल निर्धारित नहीं होता है। सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों की सेवानिवृत्ति की आयु संविधान के अनुसार 65 साल तय की गई है।

Justice UU Lalit हो सकते हैं देश के अगले चीफ जस्टिस, CJI रमणा ने की सिफारिश
Justice UU Lalit

Justice UU Lalit: कौन हैं जस्टिस यूयू ललित

जस्टिस यूयू ललित इस समय सुप्रीम कोर्ट के दूसरे वरिष्ठतम जज हैं। जस्टिस ललित महाराष्ट्र के जाने-माने वकील रह चुके हैं। उन्होंने जून 1983 में वकालत की शुरुआत की थी। उन्होंने दिसंबर 1985 तक बंबई हाईकोर्ट में प्रैक्टिस की और एक साल बाद यानी 1986 में दिल्ली आ गए और राजधानी में वकालत शुरू की। वह पूर्व अटॉर्नी जनरल सोली सोराबजी के साथ भी काम कर चुके हैं। जस्टिस ललित अप्रैल 2004 में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता बने। इसके बाद वे कई पदों पर रहे। 13 अगस्त 2014 को उन्हें सुप्रीम कोर्ट में जज के पद पर नियुक्त किया गया।

Justice UU Lalit: कई बड़े केसों में निभाई अहम भूमिका

जस्टिस उदय उमेश ललित ने अपने कार्यकाल में कई बड़े केसों में अहम भूमिका निभाई है। 22 अगस्त 2017 को तलाक-ए-बिद्दत यानी एक साथ 3 तलाक बोलने की व्यवस्था को असंवैधानिक करार देने वाली 5 जजों की बेंच के वह सदस्य थे। इस मामले में जस्टिस रोहिंटन नरीमन के साथ लिखे साझा फैसले में उन्होंने कहा था कि इस्लाम में भी एक साथ 3 तलाक को गलत माना गया है।

Justice UU Lalit हो सकते हैं देश के अगले चीफ जस्टिस, CJI रमणा ने की सिफारिश
Justice UU Lalit

30 अप्रैल 2021 को जस्टिस ललित की अध्यक्षता वाली बेंच ने राजद्रोह के मामले में लगने वाली आईपीसी की धारा 124A की वैधता पर केंद्र को नोटिस जारी किया। इस मामले में कोर्ट ने मणिपुर के पत्रकार किशोरचन्द्र वांगखेमचा और छत्तीसगढ़ के पत्रकार कन्हैयालाल शुक्ला की याचिका सुनने पर सहमति दी।

बता दें कि जस्टिस ललित ने भगोड़े कारोबारी विजय माल्या को चार महीने की सजा सुनाई थी। उन्होंने बच्चों को यौन शोषण से बचाने के लिए अहम आदेश दिए थे। पॉक्सो एक्ट के तहत उन्होंने अहम फैसला लिया था। ऐसे ही आम्रपाली के फ्लैट खरीदारों को राहत देते हुए इसमें जांच के आदेश दिए थे।

अनुसूचित जाति/जनजाति उत्पीड़न एक्ट के तहत तुरंत गिरफ्तारी न करने का आदेश भी जस्टिस ललित की सदस्यता वाली बेंच ने दिया था। हालांकि, बाद में केंद्र सरकार ने कानून में बदलाव कर तुरंत गिरफ्तारी के प्रावधान को दोबारा बहाल कर दिया था। ऐसे ही कई अहम फैसलों में जस्टिस यूयू ललित अहम हिस्सा रहे हैं।

यह भी पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Delhi Liquor Scam को लेकर CBI ने दर्ज की FIR, मनीष सिसोदिया समेत 15 के नाम शामिल

Delhi Liquor Scam: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कथित आबकारी घोटाले पर अपनी प्राथमिकी में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सहित 15 लोगों को आरोपी बनाया है।

जल्द लॉन्च होने जा रहा है Apple iPhone 14, मिलेंगे दमदार फीचर्स, साथ ही वॉच भी होगी खास

Apple iPhone 14: ऐपल की लेटेस्ट आईफोन सीरीज आईफोन 14 को लेकर लोगों को बेसब्री से इंतजार है।

Kailash Vijayvargiya ने दिया विवादित बयान, बोले- “नीतीश कुमार ऐसे पाला बदलते हैं जैसे लड़कियां बॉयफ्रेंड बदलती हैं”

Kailash Vijayvargiya: बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय 25 दिनों बाद अमेरिका से इंदौर लौटे। भारत आते ही वो विवादों में घिर गए।

गोवा देश का पहला ‘हर घर जल’ प्रमाणित राज्य घोषित, जानिए कहां तक पहुंचा हर घर में नल से पानी देने वाला जल जीवन...

गोवा और दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव के सभी गांवों के लोगों ने अपने गांव को 'हर घर जल' के रूप में घोषित किया है.

एपीएन विशेष

00:00:18

Mumbai News: मुंबई में पुलिस ने एक वाहनचालक को बीच सड़क पर मारा थप्पड़

Mumbai News: महाराष्ट्र सरकार में मंत्री जितेंद्र आव्हाड जब कोल्हापुर के दौरे पर थे।
00:51:54

Rajya Sabha Election 2022: राज्यसभा की 57 सीटों पर नजर, एक सीट कई दावेदार; तेज हुआ सियासी घमासान

Rajya Sabha Election 2022: पंद्रह राज्यों में राज्यसभा की 57 सीटों पर 10 जून को होने वाले चुनाव में कांग्रेस को 11 सीटें मिल सकती हैं।
00:22:22

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर बिहार की सियासत में एक बार फिर मचा बवाल

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर सियासत एक बार फिर गर्मा रही है और इसका केंद्र है बिहार।
00:02:28

Barabanki: आधुनिक सुलभ शौचालय का होगा निर्माण, डिजाइन है खास

Barabanki: बाराबंकी नगर पालिका परिषद के चेयरमैन पति रंजीत बहादुर श्रीवास्तव नगर में अपनी खुद के डिजाइन का सुलभ शौचालय बनवाने जा रहे हैं।
afp footer code starts here