होम देश Oskar Sala के 112वें जन्मदिन को गूगल ने बनाया खास, Google Doodle...

Oskar Sala के 112वें जन्मदिन को गूगल ने बनाया खास, Google Doodle बनाकर किया सम्मानित

ऑस्कर साला को कई पुरस्कार मिलें जिसमें उन्होंने कई साक्षात्कार दिए, कई कलाकारों से मिले और उन्हें रेडियो प्रसारण और फिल्मों में सम्मानित किया गया। महज, उन्होंने 1995 में अपना मूल मिश्रण-ट्रौटोनियम को समकालीन प्रौद्योगिकी के लिए जर्मन संग्रहालय को दान कर दिया।

गूगल (Google) ने ऑस्कर साला (Oscar Sala) के 112वें जन्मदिन के मौके पर उनका गूगल डूडल (Google Doodle) बनाया है। अगर आप भी गाने सुनना पसंद करते हैं तो आपको ऑस्कर साला को निश्चित तौर पर जानना चाहिए। ऑस्कर साला को इलेक्ट्रॉनिक म्यूजिक की दुनिया का आविष्‍कारक माना जाता है जो मिक्स्चर ट्रौटोनियम के जनक रहे हैं। उन्‍होंने टेलिविजन, रेडियो और फिल्मों की दुनिया में अलग-अलग साउंड पेश कर कमाल किया। साउंड को अलग-अलग इफेक्ट देने में ऑस्कर साला का बहुत बड़ा योगदान है। उन्होंने म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट का बखूबी इस्तेमाल किया है।

Oskar Sala का क्या है इतिहास

ऑस्कर साला का जन्म 1910 में जर्मनी के ग्रीज में हुआ था। ऐसा माना जाता है कि ऑस्कर साला को काफी कम उम्र से ही म्यूजिक के प्रति लगाव हो गया था। उन्‍हें परिवार से ही म्यूजिक विरासत के रूप में मिला।

दरअसल, ऑस्कर की मां एक गायिका थीं और उनके पिता संगीत के प्रति रूचि रखते थे। हालांकि, उनके पिता गायक होने के साथ ही नेत्र रोग विशेषज्ञ भी थे। ऑस्कर साला ने महज 14 साल की उम्र में म्यूजिक की शिक्षा में महारत हासिल कर ली थी। उन्होंने सबसे पहले वायलिन और पियानो जैसे म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट के लिए रचनाएं और गीत बनाना शुरू कर दिया था।

Google Doodle: Oskar Sala ने कई ब्लॉकबस्टर फिल्मों को दिया अपना योगदान

Google Doodle: Oskar Sala ने कई ब्लॉकबस्टर फिल्मों को दिया अपना योगदान

जब ऑस्कर साला ने पहली बार ट्रौटोनियम उपकरण सुना तो वे उसी के होकर रह गए। इसी के बाद ऑस्कर साला ने खुद का उपकरण विकसित करने की योजना बनाई, जिसे मिश्रण-ट्रौटोनियम कहा जाता है। एक संगीतकार और एक इलेक्ट्रो-इंजीनियर के तौर पर साला ने इलेक्ट्रॉनिक संगीत बनाया। ऑस्कर साला ने साल 1959 में रिलीज हुई फिल्म रोज़मेरी (1959) और साल 1962 की ब्‍लॉकबस्‍टर फिल्म द बर्ड्स के लिए म्यूजिक दिया था। ऑस्कर ने पक्षी के रोने, हथौड़े मारने और दरवाजे और खिड़की के खुलने जैसी कई आवाजें भी दीं।

अपने श्रेष्‍ठ संगीत के लिए कई पुरस्कार अपने नाम किए

ऑस्कर साला को कई पुरस्कार मिले। जिसमें उन्होंने कई साक्षात्कार दिए, कई कलाकारों से मिले और उन्हें रेडियो प्रसारण और फिल्मों में सम्मानित किया गया। उन्होंने 1995 में अपना मूल मिश्रण-ट्रौटोनियम को समकालीन प्रौद्योगिकी के लिए जर्मन संग्रहालय को दान कर दिया। ऑस्कर साला ने क्वार्टेट-ट्रौटोनियम, कॉन्सर्ट ट्रौटोनियम और वोल्क्स्ट्राटोनियम भी बनाया। इलेक्ट्रॉनिक संगीत में उनके प्रयासों ने सबहार्मोनिक्स के क्षेत्र को खोल दिया। अपने समर्पण और कड़ी मेहनत के रचनात्मक ऊर्जा के साथ, वे एक वन मैन ऑर्केस्ट्रा बन गए।

यह भी पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर देखें Swadesh Conclave 2022 Live…

Swadesh Conclave 2022: दिल्ली के विज्ञान भवन में स्वदेश कॉन्क्लेव एंड अवार्ड्स का भव्य आयोजन किया गया।

Gujarat में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सीएम भूपेंद्र पटेल ने प्रदेशवासियों को दिया खास तोहफा, सीएम ने की कई बड़ी घोषणाएं

Gujarat में मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने विधानसभा चुनाव से पहले राज्य के सरकारी कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है।

Janmashtami 2022: जन्माष्टमी पर कान्हा जी के लिए करनी है शॉपिंग, दिल्ली के इन मार्केट्स से खरीदें सुंदर वस्त्र

Janmashtami 2022: पूरे देश में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाने के लिए तैयारी शुरू हो गई है।

एपीएन विशेष

00:00:18

Mumbai News: मुंबई में पुलिस ने एक वाहनचालक को बीच सड़क पर मारा थप्पड़

Mumbai News: महाराष्ट्र सरकार में मंत्री जितेंद्र आव्हाड जब कोल्हापुर के दौरे पर थे।
00:51:54

Rajya Sabha Election 2022: राज्यसभा की 57 सीटों पर नजर, एक सीट कई दावेदार; तेज हुआ सियासी घमासान

Rajya Sabha Election 2022: पंद्रह राज्यों में राज्यसभा की 57 सीटों पर 10 जून को होने वाले चुनाव में कांग्रेस को 11 सीटें मिल सकती हैं।
00:22:22

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर बिहार की सियासत में एक बार फिर मचा बवाल

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर सियासत एक बार फिर गर्मा रही है और इसका केंद्र है बिहार।
00:02:28

Barabanki: आधुनिक सुलभ शौचालय का होगा निर्माण, डिजाइन है खास

Barabanki: बाराबंकी नगर पालिका परिषद के चेयरमैन पति रंजीत बहादुर श्रीवास्तव नगर में अपनी खुद के डिजाइन का सुलभ शौचालय बनवाने जा रहे हैं।
afp footer code starts here