गाजियाबाद बुजुर्ग पिटाई मामले में ट्विटर इंडिया फंसता जा रहा है। गाजियाबाद पुलिस ट्विटर एमडी मनीष माहेश्वरी के खिलाफ लगातार कार्यवाही कर रही है। गाजियाबाद स्थित लोनी पुलिस ने मनीष को नोटिस भेजकर 24 जून को पुलिस स्टेशन में हाजिर होने के लिए कहा है। नोटिस के अनुसार अगर मनषी माहेश्वरी दिए हुए तारीख पर हाजिर नहीं होते हैं तो उनपर केस में सहयोग न देने का आरोप लगेगा साथ ही अन्य कार्यवाही भी हो सकती है।

इस मुद्दे पर पुलिस ने कई बार नोटिस भेजा है सभी नोटिस पर एमडी साहब एक ही जवाब देते हैं, उनका कहना है कि गाजियाबाद वाले मुद्दे से मेरा कोई लेना देना नहीं है। इस तरह के मुद्दे को हम डील नहीं करते हैं।

इससे पहले पुलिस ने 17 जून को नोटिस जारी कर मनीष माहेश्वरी को 7 दिन के भीतर पुलिस स्टेशन में हाजिर होने के लिए कहा था लेकिन वे हाजिर नहीं हुए। ट्विटर एमडी ने बयान देते हुए कहा कि वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए पुलिस की मदद जरूर कर सकते हैं। इस पर पुलिस ने आपत्ति जताई है।

बता दें कि 15 जून को ट्विटर पर एक वीडियो वायरल हो रहा था जिसमें एक मुस्लिम बुजुर्ग को कुछ लोग पीट रहे थे साथ ही दाढ़ी भी काट दी थी..इस वीडियो को ट्विटर पर खूब वायरल किया गया। जानी मानी पत्रकार राना अयूब से लेकर कई वामपंथी नेताओं ने इसे शेयर किया सभी पर केस दर्ज कर लिया गया है। वहीं  ट्विटर पर आरोप है कि उसने वीडियो को वायरल होने से रोकने की कोशिश नहीं की। यही कारण है कि पुलिस बार बार ट्विटर एमडी को नोटिस भेज रही है।

नोटिस में कहा गया था कि ट्विटर कम्यूनिकेशन इंडिया और ट्विटर INC के जरिए कुछ लोगों ने अपने ट्विटर हैंडल का उपयोग करते हुए समाज में नफरत फैलाने की कोशिश की। इन कोशिशों को रोकने के लिए कंपनी की तरफ से कोई नोटिस नहीं लिया गया और ऐसे समाज विरोधी संदेश को लगातार वायरल होने दिया गया। पुलिस ने स्पष्टीकरण देने के लिए ट्विटर को एक हफ्ते की मोहलत दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here