होम देश Bulli Bai App मामले में 3 आरोपियों की जमानत याचिका कोर्ट ने...

Bulli Bai App मामले में 3 आरोपियों की जमानत याचिका कोर्ट ने की खारिज

Bulli Bai App मामले में मुंबई की बांद्रा कोर्ट ने आरोपी विशाल कुमार झा, श्वेता सिंह और मयंक रावत की ज़मानत याचिका खारिज कर दी है। बता दें कि मामले में मुंबई के बांद्रा कोर्ट ने Vishal Kumar Jha, Shweta Singh और Mayank Rawat की जमानत अर्जी पर अपना आदेश 20 जनवरी तक सुरक्षित रखा था। वहीं सुनवाई के दौरान मुंबई साइबर सेल ने तीनों की जमानत का कड़ा विरोध किया था। गौरतलब है कि मुंबई की साइबर सेल ने तीनों आरोपियों को बुल्ली बाई ऐप मामले में गिरफ्तार किया था और इस समय तीनों आरोपी जुडिशल कस्टडी में है।

Bulli Bai App मामले में सबसे पहले विशाल की हुई थी गिरफ्तारी

बुल्ली बाई ऐप के खिलाफ कई लोगों की शिकायत मिलने बाद पुलिस ने सबसे पहले विशाल को गिरफ्तार किया था। पुलिस के अनुसार आरोपी विशाल ने 31 दिसंबर को अपना नाम बदलकर सिख समुदाय से संबंधित एक नाम पर रखा था। बता दें कि आरोपी विशाल कुमार झा कोरोना से भी संक्रमित पाया गया था। जिसके बाद उसे बीएमसी के एक क्वारंटीन सेंटर में भर्ती कराया गया था।

Vishal Kumar

Bulli Bai App मामले में 5 जनवरी को Shweta की गिरफ्तारी हुई थी

वहीं इस मामले में 5 जनवरी की सुबह मुंबई पुलिस ने Shweta Singh को उत्तराखंड के उधमसिंहनगर से गिरफ्तार किया था। Shweta Singh के माता-पिता अब इस दुनिया में नहीं हैं। पिछले साल कोरोना वायरस की दूसरी लहर में श्वेता सिंह के पिता की मौत हुई थी। उससे पहले 2011 में कैंसर की बीमारी के चलते उसकी मां का निधन हो गया था। श्वेता की उम्र सिर्फ 18 साल है और वह इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही थी। वहीं मुंबई पुलिस ने इसके बाद उत्‍तराखंड से आरोपी मयंक रावत (Mayank Rawat) को भी गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने 14 जनवरी को आरोपी श्वेता सिंह और मयंक को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

Bulli Bai App क्‍या है?

Bulli Bai App
Bulli Bai App

‘Bulli Bai’ एक ऐसा एप्लीकेशन है जो Github एपीआई के माध्यम से बनाया गया था। यह ‘Sulli Deal’ एप्प के समान ही काम करता था। जानकारी के मुताबिक इस ऐप में कई नामचिन मुस्लिम महिलाओं को सोशल मीडिया पर लोगों के लिए ‘सौदे’ के रूप में पेश किया गया।

Bulli Bai क्‍या है?

बुल्‍ली बाई को ‘Sulli Deal’ का नया Version बताया जा रहा है। सुल्‍ली की बात करें तो यह महिलाओं के लिए अपमानजनक शब्द है। 4 जुलाई 2021 को ‘सुल्‍ली डील्स’ नाम के ट्विटर हैंडल पर बहुत सारे स्क्रीनशॉट शेयर किए गए थे। जिसमें कई मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें ‘सुल्‍ली डील ऑफ द डे’ की टैगलाइन के साथ पोस्‍ट की गईं थी। इसी तरह मुस्लिम महिलाओं को अपमानित करने के इरादे से बुल्‍ली बाई ऐप को बनाया गया था। इस ऐप पर कई महिलाओं की तस्वीरें को ‘Your bully by the day…. के Caption के साथ शेयर और नीलाम किया जा रहा था।

Bulli Bai App किसने बनाया?

अभी तक जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक 21 साल के इंजीनियरिंग छात्र नीरज बिश्नोई (Neeraj Bishnoi) ने इस ऐप को बनाया है। नीरज बुल्ली बाई ऐप मामले का मुख्य साजिशकर्ता बताया जा रहा है और उसके ऊपर यह भी आरोप है कि वो इसका ट्विटर हैंडल भी चलाता था। उसको मामले में दिल्ली पुलिस ने बुधवार रात को असम के जोरहाट जिले से गिरफ्तार किया था।

संबंधित खबरें: 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Infosys के CEO Salil Parekh को मिलती है इतनी सैलरी, जानकर दंग रह जाएंगे आप

Salil Parekh: इंफोसिस लिमिटेड के CEO सलिल पारेख की सैलरी को 88 फीसदी बढ़ाकर 79.75 करोड़ प्रति वर्ष कर दिया गया है। कंपनी ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में इसका खुलासा किया है।

APN News Live Updates: “सेक्स वर्कर भी सुरक्षा और सम्मान के हकदार” Supreme Court ने पुलिस को दिए अहम निर्देश, पढ़ें 26 मई की...

Supreme Court ने गुरुवार को एक अहम आदेश में पुलिस से कहा कि सेक्स वर्कर के खिलाफ न तो उन्हें दखल देना चाहिए...

IPL 2022: Rajat Patidar ने एलिमिनेटर में शतक लगाकर बदली आरसीबी की किस्मत, पिता ने कहा- खेल के प्रति हमेशा से रहा है समर्पित...

आईपीएल मेगा ऑक्शन में रजत पर कोई टीम ने बोली नहीं लगाई थी। लवनीत सिसोदिया के चोटिल होने के बाद आरसीबी ने रजत पाटीदार को 20 लाख के बेस प्राइस में टीम में शामिल किया।

Mumbai News: मामा को भांजी से हुआ प्यार तो की सारी हदें पार, अब सलाखों के पीछे

Mumbai News: मुम्बई के कांदिवली से मामा भांजी के रिश्ते को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है।

एपीएन विशेष

00:03:47
00:01:26

UP News: नाबालिग का पहले कराया धर्म परिवर्तन, फिर पढ़वाया निकाह, घरवालों ने बजरंगदल के साथ मिलकर किया हंगामा

UP News: कानपुर के काकादेव थाना क्षेत्र में एक परिवार ने 16 वर्षीय बेटे का बहला फुसलाकर धर्मांतरण कराने का आरोप लगाया है।

West Bengal: पश्चिम बंगाल के बैरकपुर से BJP सांसद अर्जुन सिंह ने थामा TMC का दामन

West Bengal: पश्चिम बंगाल के बैरकपुर से बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह ने फिर से टीएमसी का दामन थाम लिया है। तीन साल बाद अर्जुन सिंह ने घर वापसी की है।
00:22:22

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर बिहार की सियासत में एक बार फिर मचा बवाल

Bihar Caste Census: जातीय जनगणना पर सियासत एक बार फिर गर्मा रही है और इसका केंद्र है बिहार।
afp footer code starts here